‘ब्रेड न खाएं.. कंपनी आपको मूर्ख बना रहीं’, यूट्यूबर का चौंकाने वाला खुलासा, देखें VIDEO

नई दिल्ली. जाने माने यूट्यूबर रेवंत हिमतसिंग्का ने रोज सुबह खाये जाने वाले विभिन्न तरह के ब्रेड को लेकर चौंकाने वाला खुलासा किया है. मालूम हो कि ब्रेड-बटर भारत के हर उम्र के लोगों में काफी मशहूर है लेकिन क्या आपको पता है कि ये कंपनियां आपको न्यूट्रिशंस के नाम मूर्ख बना रही हैं. ‘फ़ूड फार्मर’ (thefoodpharmer) से मशहूर इन्फ्लुएंसर रेवंत हिमतसिंग्का ने बताया कि भारत में दो प्रकार की ब्रेड मिलती हैं- ‘एक जो खुले तौर पर स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है (सफेद ब्रेड), और दूसरे प्रकार (ब्राउन, मल्टीग्रेन, होलव्हीट) जो स्वास्थ्य के लिए फायदे का दिखावा करती है जबकि वे नहीं हैं!’

एक वीडियो में हिमतसिंग्का को यह कहते हुए देखा जा सकता है कि, ‘सफ़ेद ब्रेड में मैदा भरा रहता है, जिसे बनाने के दौरान उसमें से रोगाणु और चोकर की परतें हटा दी जाती. वहीं, ब्रॉउन ब्रेड जिसे स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है. उन्होंने बताया कि, ब्रॉउन ब्रेड का रंग ब्रॉउन कैरमेल रंग 150A के कारण होता है. ये कैरमेल रंग 150A कोक और बॉर्न वीटा में इस्तेमाल होता है.



उन्होंने एफएसएसएआई (FSSAI) को कोट करते हुए कहा कि, ‘उत्पादन के दौरान प्रोडक्ट्स पर उनके इंग्रीडिएंट के नाम और उनके कंपोजिशन का उल्लेख घटते क्रम में होना चाहिए. उन्होंने वीडियो में एक ब्रेड के पैकेट को दिखाते हुए कहा कि इसमें 20% मैदा और शेष आटा है. लेकिन भले ही मैदा की मात्रा का उल्लेख नहीं किया गया है, लेकिन एफएसएसएआई के निर्देश से यह स्पष्ट है कि मैदा साबुत गेहूं की ब्रेड के उस पैकेट का प्रमुख घटक है.

वहीं, हिमंतसिंगका मल्टीग्रेन ब्रेड का एक पैकेट लेते हैं जिसमें पहली सामग्री के रूप में परिष्कृत गेहूं का आटा (मैदा) और उसके बाद 30 प्रतिशत आटा होता है. उन्होंने कहा कि मल्टीग्रेन ब्रेड का ये मतलब नहीं है कि ये स्वास्थ्यवर्द्धक होते हैं. फर्क बस इतना है कि इसमें एक से अधिक आनाज होते हैं. उन्होंने कहा, ‘भारत में अधिकांश मल्टीग्रेन ब्रेड भी मुख्य रूप से मैदा से बनी होती हैं.’

ये भी पढ़ें- PHOTOS: अंजू और नसरुल्ला का प्री-वेडिंग फोटोशूट वायरल, इस्लाम धर्म अपना चुकी है भारतीय महिला!

रेवंत हिमतसिंगका उर्फ फ़ूड फार्मर, सोशल मीडिया इंफ्लुएंसर हैं जिन्होंने बोर्नविटा में हाई शुगर कटेंन को उजागर किया था जिसके बाद कैडबरी ने उनके खिलाफ कानूनी नोटिस भेजा था.

टैग: मल्टीग्रेन ब्रेड, सोशल मीडिया प्रभावित करने वाले, यूट्यूबर



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*