बाढ़-बारिश से पैरों में बढ़ जाता है फंगल इंफेक्शन का खतरा, 5 चीजों का करें इस्तेमाल, परेशानी से बने रहेंगे दूर

हाइलाइट्स

बारिश में नमी और गंदगी फंगस को पनपने का मौका देती है, जिससे पैरों में बदबू, खुजली और सूजन की समस्या हो जाती है.
पैरों और नाखून को फंगल इंफेक्शन से बचाने के लिए एंटिफंगल डस्टिंग पाउडर और नीम तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है.

नाखूनों में फंगल संक्रमण: बारिश अपने साथ-साथ कई बीमारियों को भी लेकर आती है. ऐसे में एहतियात बरतना बेहद जरूरी होता है. क्योंकि बारिश में बैक्टीरिया तो पनपते ही हैं, साथ ही पैरों में भी फंगल इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है. बता दें कि, बारिश में नमी और गंदगी फंगस को पनपने का मौका देती है. इसके चलते पैरों में बदबू, खुजली और सूजन आदि की समस्या हो जाती है. ऐसे में जरूरी है कि पैरों की ठीक से देखरेख की जाए. इसके लिए यदि आप कुछ चीजों से बचाव करेंगे तो पैरों और नाखून को फंगल इंफेक्शन से बचा जा सकते हैं. इसके लिए आप गर्म पानी और बेकिंग सोडा की भी मदद ले सकते हैं. आइए बलरामपुर चिकित्सालय लखनऊ के आयुर्वेदाचार्य डॉ. जितेंद्र शर्मा से जानते हैं पैरों को फंगल इन्फेक्शन से बचाने के उपाए-

फंगल इन्फेक्शन से बचने के 5 उपाय

एंटिफंगल डस्टिंग पाउडर लगाएं: बारिश के दौरान पैरों को फंगल इंफेक्शन से बचाना बहुत मुश्किल भरा काम है. क्योंकि घर से बाहर निकलना मजबूरी होती है. ऐसे में यदि आप बंद जूते पहनते हैं तो मोजा पहनने से पहले एंटिफंगल डस्टिंग पाउडर जरूर लगाएं. इसके बाद रात में एंटिफंगल लोशन लगाएं. ऐसा करने से बरसात के दौरान पैरों से बदबू खत्म हो जाएगी. साथ ही आप बैक्टीरियल इंफेक्शन से भी बच सकते हैं.

नीम तेल करें इस्तेमाल: बरसात में नीम का तेल पैरों के इंफेक्शन को कम करने में असरदार माना जाता है. बता दें कि, एंटीफंगल गुण से भरपूर नीम आसानी से उपलब्ध होने वाला प्राकृतिक घटक है. इसके इस्तेमाल से इंफेक्शन को कम किया जा सकता है. यदि आप भी संक्रमण की चपेट में हैं तो आप भी अपने पैरों के साथ-साथ पैर की उंगलियों पर भी नीम का तेल लगा सकते हैं.

मेहंदी की पत्तियों का पेस्ट लगाएं: बारिश के दिनों में पैरों में होने वाले इंफेक्शन के लिए मेहंदी की पत्तियां बेहद असरदार मानी जाती हैं. बता दें कि, मेहंदी की ताजी पत्तियों में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं, जो कि इस तरह से इंफेक्शन से बचाव में मददगार है. इसके लिए आप मेहंदी की पत्तियों का पेस्ट तैयार कर सकते हैं. अब आप इस पेस्ट को प्रभावित उंगलियों के बीच लगाएं. इस पेस्ट के सूखने तक आप लगा रहने दीजिए. ऐसा करने से इंफेक्शन से बचा जा सकता है.

ये भी पढ़ें: वर्कआउट के बाद बॉडी में हो जाता है दर्द? बिलकुल ना हों परेशान, 5 आसान टिप्स करें फॉलो, झट से मिल जाएगी राहत

टीट्री ऑयल और हल्दी लगाएं: तमाम गुणों से भरपूर टीट्री ऑयल और हल्दी दोनों ही सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं. बता दें कि, टीट्री ऑयल में एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं. इस ऑयल को आप दिन में दो बार प्रभावित वाली जगह पर लगा सकते हैं. इसके अलावा आप हल्दी का पेस्ट बनाकर अपने पैरों पर लगा सकते हैं. ये एंटीबैक्टीरियल, एंटिफंगल और एंटीवायरल गुणों के लिए जाने जाते हैं. फंगल संक्रमण से भी बचने के लिए पैर की उंगलियों के आसपास लगाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें: बिना अंडा-मीट के हड्डियों को बनाना है सख्त, खाने शुरू कर दें ये 7 शाकाहारी फूड्स, बोन्स रहेंगे हेल्दी-मजबूत

बंद चप्पल पहनने से बचें: बारिश के दिनों में जितना हो सके, उतना खुले जूते पहनें. यदि आप बारिश में भीग जाएं तो अपने पैरों को तुरंत साबुन और पानी से धो लें. ऐसा करने से आपके पैरों में बारिश का पानी नहीं लगेगा और फंगल इंफेक्शन का खतरा टल जाएगा.

टैग: स्वास्थ्य समाचार, जीवन शैली, युक्तियाँ और चालें

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*