सीमा हैदर ने भारत में घुसने के लिए कदम-कदम पर लिया झूठ का सहारा, नेपाल के बस वालों को भी धोखे में रखा

नई दिल्ली. भारत में अवैध ढंग से घुसी पाकिस्तानी नागरिक सीमा हैदर (Seema Haider) को लेकर लगातार नए खुलासे हो रहे हैं. न्यूज18 इंडिया को पता चला है कि सीमा ने पाकिस्तान से नेपाल होते हुए भारत में दाखिल होने के लिए जगह-जगह पर झूठ का सहारा लिया. एक ओर जहां नेपाल के काठमाडूं स्थित होटल न्यू विनायक में सीमा और उसके प्रेमी सचिन ने अपना गलत नाम-पता दर्ज कराया था, वहीं अब पता चला है कि सीमा जिस बस पर सवार होकर 12 मई को भारत में दाखिल हुई, उसके मैनेजर को भी अपनी गलत पहचान बताकर धोखे में रखा.

सृष्टि बस सर्विस के मैनेजर प्रसन्ना गौतम ने News18 इंडिया को बताया कि सीमा ने वहां खुद को भारतीय नागरिक बताते हुए अपना नाम मीना बताया था. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, सीमा हैदर नेपाल की राजधानी काठमांडू होते हुए पोखरा पहुंची और रात किसी होटल में बिताकर सुबह वह सृष्टि बस सर्विस के दफ्तर में पहुंची थी. इस दौरान उसने बस सर्विस के मैनेजर गौतम से लोकेशन मांग ली और पूरी जानकारी लेकर अगली सुबह तकरीबन साढ़े 6 बजे पोखरा के जीरो माइल इलाके में बने सृष्टि बस सर्विस के दफ्तर पहुंच गई.

ये भी पढ़ें- नेपाल में रूम नंबर 204 और सीमा हैदर का राज़! होटल मालिक ने किए बड़े खुलासे

‘सीमा ने खुद को बताया था भारतीय नागरिक’
सृष्टि बस सर्विस के मैनेजर प्रसन्ना गौतम के मुताबिक, सीमा हैदर से जब बस स्टाफ ने पूछा था कि क्या उसके पास आईडी है तो उसने खुद को इंडियन बताते हुए आईडी होने की जानकारी दी थी और बस में बैठ गई. गौतम बताते हैं, ‘सीमा ने 11 मई को उनके दफ्तर में संपर्क किया था. यहां उसने अपना नाम मीना बताया था. वह 12 मई को यहां से रवाना हुई और उसके साथ 4 बच्चे भी थे.

गौतम बताते हैं कि सीमा ने 4 सीट बुक करवाई थी. बस स्टाफ सबके नाम की लिस्ट बनाकर रखते हैं. उन्होंने सीमा से भी आईडी के बारे में पूछा था तो उसने बताया था कि उसके पास इंडियन आईडी है और यह कहकर बस में बैठ गई. वह बताते हैं, ‘सुबह 7 बजे की बस थी. हमने उसे कुछ डिस्काउंट भी दिया था, क्योंकि उसके साथ 4 बच्चे थे. उसने यहां पर 12 हजार रुपये दिए थे, बाकी 6 हजार दिल्ली में अपने साथी की मदद से पेमेंट किए थे.’

सचिन ने किया था बाकी बचा पेमेंट
उधर न्यूज 18 इंडिया के हाथ सीमा हैदर की वॉट्सऐप चैट भी लगी. इस चैट में सीमा हैदर को बस स्टाफ ने गूगल-पे पर  पेमेंट करने के बाद स्क्रीन शॉट्स भेजने की बात लिखी है. इस पर सीमा हैदर ने मीना जी के नाम से सेव किया हुआ नंबर बस सर्विस वाले को भेजा और उसमें लिखा कि ‘भैया आप उनको मैसेज कर दो. सूत्रों के मुताबिक, सीमा ने सचिन का नंबर मीना जी के नाम से सेव किया हुआ था और सीमा के बस टिकट की बाकी पेमेंट सचिन ने की थी.

बस मैनेजर प्रसन्ना गौतम ने बताया कि बस नंबर 9463 सवारियों को लेकर पोखरा होते हुए सिद्धार्थ नगर से भारत-नेपाल बॉर्डर पार करके लखनऊ, आगरा होते हुए दिल्ली पहुंची थी. उस दिन लगभग 37 लोग बस में सवार थे. वह कहते हैं, ‘बॉर्डर पर चेकिंग होती है, वहां क्या हुआ ये हमें नहीं पता. हम कहते हैं कि सिर्फ नेपाली नागरिक होना चाहिए. उसने हमें इंडियन बताया था. हमारे पास परमिट ही वही (भारतीय और नेपाली नागरिकों को लाने-ले जाने का) होता है.

गौतम ने साथ ही बताया कि उस बस के ड्राइवर राजू अधिकारी इंडिया में है और दिल्ली के सरोजिनी नगर में उनका दफ्तर भी है. अधिकारी बीते 4 दिन से वहीं है, जहां उससे पूछताछ हुई है. वह कहते हैं, ‘हमें नहीं पता कि क्या पूछताछ हो रही है, लेकिन वह भारत में ही है.’

टैग: सीमा हैदर, यूपी एटीएस, यूपी खबर

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*