ये तो हद है…50 लाख खर्च, फिर परेशानी बरकरार; अब ग्रामीणों ने की ये मांग

मेघाराम मेघवाल/ जालोर. राजस्‍थान के जालोर जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर झाक व मांडोली बीच बहने वाली नदी पर लगभग 50 लाख लागत से बनी रपट के बाद भी लोगों एवं बच्चों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. रपट के नीचे होने की वजह से पानी इसके ऊपर से जा रहा है. इस वजह से स्कूल जाने वाले बच्चों और दोनों गांवों के ग्रामीणों को परेशानी उठानी पड़ रही है. बारिश के कारण नदी के पानी के साथ आई बजरी व मिट्टी रपट पर जमा हो गई है, जिसकी वजह से भी यहां आवागमन में परेशानी हो रही है.

इस संबंध में ग्रामीणों का कहना ​कि रपट पर पानी आने की वजह से बच्चों को ट्रेक्टर ट्रॉली में बैठाकर स्कूल भेजना पड़ रहा है. ग्रामीणों ने रपट की ऊंचाई बढ़ाने की मांग की है. ग्रामीणों का कहना है कि मांडोली व झाक गांव के बीच आवागमन के लिए यह एकमात्र मार्ग है. इस मार्ग के बाधि​त होने से आवागमन बंद हो जाता है.

ग्रामीणों श्रवण कुमार पारंगी ने बताया कि रपट बनाते समय उंचाई का ध्यान नहीं रखा गया. इस वजह से इस पर पानी जमा हो रहा है. नदी का बहाव तेज होने पर इसमें बहने का खतरा बना रहता है. ऐसे में जल्द से जल्द इस रपट की ऊचाई बढ़ाई जाए, जिससे कि कोई अनहोनी न हो.

.

पहले प्रकाशित : 22 जुलाई, 2023, सुबह 10:23 बजे IST

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*