जब जावेद अख्तर को आया फिल्म का आइडिया, टिशू पैपर पर लिखा डाली कहानी, फिल्म ने सनी देओल को बना दिया सुपरस्टार

03

सलीम-जावेद की जोड़ी हिट थी, लेकिन ये जोड़ी अलग हुई तो उनकी जावेद साहब पर कोई भरोसा नहीं कर पा रहा था. राहुल रवैल वो पहले शख्स थे, जिन्होंने जावे साहब पर भरोसा किया और कहा, ‘फिल्म लिखों, हम बनाएंगे.’ राहुल रवैल और जावेद अख्तर दोनों बंबई के सबसे करीबी और आसानी से पहुंचे जा सकने वाले हिल स्टेशन लोनावला पहुंचे. दोनों ने दिन बीता दिया, लेकिन फिल्म का कहानी पर कोई काम नहीं हो सका. रात हुई लेकिन जावेद अख्तर साहब को नींद नहीं आ रही थी. उन्हें पढ़ने-लिखने का आदत थी, तो पास में रखे न्यूज पेपर को उठाया और पढ़ने लगे. पेपर में एक गैंगेस्टर की सच्ची स्टोरी थी. स्टोरी पढ़ने के बाद तड़के 4 बजे सोते हुए राहुल को उठाया. वह गहरी नींद में थे, लेकिन जावेद ने कहा कि मेरे दिमाग में फिल्म बनाने का एक कमाल का आइडिया आया है.

(टैग्सटूट्रांसलेट)जावेद अख्तर(टी)जावेद अख्तर समाचार(टी)जावेद अख्तर फिल्म्स(टी)फिल्म अर्जुन(टी)अर्जुन 1985(टी)जावेद अख्तर ने अर्जुन फिल्म कैसे लिखी(टी)जावेद अख्तर ने टिशू पेपर पर केवल 3 घंटे में अर्जुन फिल्म लिखी(टी)जावेद अख्तर को अर्जुन का विचार अखबार के लेख से आया(टी)1980 के दशक के गैंग युद्धों के बारे में लेख प्रेरित फिल्म कथानक अर्जुन(टी)अर्जुन फिल्म 1985( टी)डिंपल कपाड़िया उर्फ ​​गीता साहनी(टी)अर्जुन मालवंकर उर्फ ​​सनी देओल

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*