Shubman Gill: शुभमन गिल का एक फैसला करियर पर ना पड़ जाए भारी, वेस्टइंडीज ने दिए गहरे जख्म, छिन सकती है नंबर-3 की कुर्सी

नई दिल्ली. टीम इंडिया ने दूसरे टेस्ट में भी मेजबान वेस्टइंडीज के खिलाफ अच्छी शुरुआत की है. पोर्ट ऑफ स्पेन में खेले जा रहे पहले मैच के पहले दिन का खेल खत्म होने पर टीम इंडिया ने 4 विकेट पर 288 रन बना लिए हैं. विराट कोहली 87 तो रवींद्र जडेजा 36 रन बनाकर खेल रहे हैं. यशस्वी जायसवाल ने 57 तो कप्तान रोहित शर्मा ने 80 रन बनाए. शुभमन गिल 10 और अजिंक्य रहाणे 8 रन बनाकर आउट हुए. मैच के दूसरे दिन शुक्रवार को नजर कोहली पर होगी. अपना 500वां इंटरनेशनल मैच खेल रहे कोहली 76वें शतक से सिर्फ 13 रन दूर हैं. हालांकि नंबर-3 पर उतरे गिल एक बार फिर बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे. टीम इंडिया 2 मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-0 से आगे चल रही है. ऐसे में वह इस मैच को भी जीतकर सीरीज में क्लीन स्वीप करना चाहेगी.

शुभमन गिल को वेस्टइंडीज सीरीज से पहले ओपनर की जगह नंबर-3 पर मौका देने का फैसला किया गया, लेकिन वे अब तक फेल रहे हैं. पहले टेस्ट की बात करें, ताे वे सिर्फ 6 रन बना सके थे. वहीं दूसरे टेस्ट में भी वे बड़ी पारी नहीं खेल सके. गिल 12 गेंद पर 10 रन बनाकर तेज तेज गेंदबाज केमार रोच की गेंद पर विकेट के पीछे लपके गए. इससे पहले वे टेस्ट करियर में सिर्फ एक बार नंबर-3 पर उतरे थे. दिसंबर 2021 में न्यूजीलैंड के खिलाफ तब उन्होंने वानखेड़े स्टेडियम में नंबर-3 पर 47 रन की पारी खेली थी. करियर का 18वां टेस्ट खेल रहे 23 साल के गिल बतौर ओपनर टेस्ट में 2 शतक और 4 अर्धशतक ठोक चुके हैं.

द्रविड़ से बात करके लिया फैसला
रोहित शर्मा ने सीरीज शुरू होने के पहले बताया था कि शुभमन गिल ने कोच राहुल द्रविड़ ने बात करके नंबर-3 पर खेलने का फैसला किया. वे घरेलू क्रिकेट में इस नंबर पर खेलते रहे हैं. उनकी जगह यशस्वी को ओपनिंग करने का मौका मिला. यशस्वी ने बतौर ओपनर पहले टेस्ट में शतक तो दूसरे टेस्ट में भी अर्धशतक ठाेका. वहीं गिल अब तक नंबर-3 की कुर्सी पर कोई कमाल नहीं दिखा सके हैं. उन्हें सीरीज में एक बार और इस नंबर पर खेलने का मौका मिल सकता है. अगर गिल बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे, तो मैनेजमेंट बड़ा फैसला ले सकता है.

पिछली 9 पारियों में सिर्फ एक बार 50+
शुभमन गिल के लिए हालांकि टेस्ट की पिछली 9 पारियां कुछ खास नहीं रही हैं. इस दौरान वे सिर्फ एक बार 50 से अधिक का स्कोर बना सके हैं. अन्य 8 पारियों में वे 30 रन के आंकड़े तक भी नहीं पहुंच सके हैं. बांग्लादेश के खिलाफ दिसंबर में उन्होंने मीरपुर में 20 और 7 रन बनाए थे. फिर घर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 3 पारियों में 21, 5 और 128 रन बनाए. जून में कंगारू टीम के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में वे 13 और 18 रन की ही पारी खेल सके. अब वेस्टइंडीज में 2 पारियों में 6 और 10 रन बनाए.

पोर्ट ऑफ स्पेन में भी ‘हिटमैन’ ने मचाया धमाल, सिक्स लगाकर पूरा किया टेस्ट करियर का 15वां अर्द्धशतक

शुभमन गिल के टेस्ट करियर की बात करें, तो वे अब तक 18 मैच की 32 पारियों में 31 की औसत से 937 रन बना चुके हैं. 2 शतक और 4 अर्धशतक ठोका है. 128 रन बेस्ट प्रदर्शन है. वहीं फर्स्ट क्लास करियर के रिकॉर्ड को देखें, तो गिल ने 44 मैच की 75 पारियों में 51 की औसत से 3469 रन बनाए हैं. 10 शतक और 16 अर्धशतक लगाया है. 268 रन बेस्ट प्रदर्शन है.

टैग: भारत बनाम वेस्टइंडीज, शुबमन गिल, टीम इंडिया, यशस्वी जयसवाल

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*