‘संकट में फंसे श्रीलंका के लोगों के साथ हरदम खड़े रहे’, PM मोदी बोले- UPI के समझौते से बढ़ेगी फिनटेक कनेक्टिविटी

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi) ने आज श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे (Ranil Wickremesinghe) के साथ बैठक की. नई दिल्ली में पीएम मोदी ने श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे के साथ प्रतिनिधिमंडल स्तर की बातचीत में भी हिस्सा लिया. पीएम नरेंद्र मोदी और श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे की मौजूदगी में भारत और श्रीलंका के बीच कई समझौतों पर हस्ताक्षर हुए. इनमें से एक समझौता श्रीलंका में तेज पेमेंट सिस्टम यूपीआई (UPI) की स्वीकृति के लिए नेटवर्क-टू-नेटवर्क समझौते के लिए है. इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि ‘मैं राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे और उनके प्रतिनिधिमंडल का भारत में स्वागत करता हूं. आज राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने अपने कार्यकाल का 1 साल पूरा किया है. इस पर मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं.’

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘पिछला 1 साल श्रीलंका के लोगों के लिए चुनौतियों से भरा रहा है. एक निकटतम मित्र होने के नाते हमेशा की तरह हम इस संकट के काल में भी श्रीलंका के लोगों के साथ खड़े रहे और जिस साहस के साथ उन्होंने इस चुनौतियों का सामना किया, मैं इसके लिए उनका अभिनंदन करता हूं.’ पीएम मोदी ने कहा कि ‘आज हमने द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और अतंरराष्ट्रीय मुद्दों पर अपने विचार साझा किए. हमारा मानना है कि भारत-श्रीलंका के सुरक्षा और विकास एक दूसरे से जुड़े रहें और इसलिए ये जरूरी है कि हम एक दूसरे की सुरक्षा और संवेदनाओं को ध्यान में रखते हुए साथ मिलकर काम करें.’

पीएम मोदी ने कहा कि ‘आज हमने आर्थिक साझेदारी के लिए एक विजन डॉक्यूमेंट अपनाया है. यह विजन दोनों देशों के लोगों के बीच समुद्री, वायु, ऊर्जा और लोगों से लोगों के बीच संपर्क को मजबूत करना और पर्यटन, बिजली, व्यापार, उच्च शिक्षा और कौशल विकास में आपसी सहयोग को तेज करना है. यह श्रीलंका के प्रति भारत की दीर्घकालिक प्रतिबद्धता का दृष्टिकोण भी बनाता है.’ श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने ‘इस मौके पर कहा कि पदभार ग्रहण करने के बाद यह मेरी भारत की पहली यात्रा है. मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बधाई दी कि उनके नेतृत्व में भारत जबरदस्त विकास कर रहा है.’

विक्रमसिंघे ने कहा कि ‘मैंने प्रधानमंत्री मोदी को श्रीलंका के सामने आने वाली चुनौतियों और हमारे द्वारा किए गए सुधारों से भी अवगत कराया है. मैंने उन्हें अर्थव्यवस्था में सुधार लाने की अपनी प्रतिबद्धता से भी अवगत कराया, जिससे सभी वर्गों को लाभ होगा… हमें अपनी अर्थव्यवस्था को विकास पथ पर ले जाने की जरूरत है.’ विक्रमसिंघे ने कहा कि ‘मैंने प्रधानमंत्री मोदी को उन असाधारण चुनौतियों से भी अवगत कराया है जो श्रीलंका ने पिछले वर्ष में आर्थिक, सामाजिक और राजनीतिक दृष्टि से अनुभव की हैं और इन चुनौतियों पर काबू पाने के लिए मैंने कई मोर्चों पर सुधार उपायों का नेतृत्व किया है. मैंने प्रधानमंत्री मोदी और भारत के लोगों को हमारे आधुनिक इतिहास में सबसे चुनौतीपूर्ण समय में श्रीलंका के लिए दिखाई गई एकजुटता और समर्थन के लिए गहरी सराहना व्यक्त की है.’

टैग: पीएम नरेंद्र मोदी, पीएम नरेंद्र मोदी न्यूज़, श्रीलंका, है मैं



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*