रूस : बगावत के बाद पहली बार निजी सेना के प्रमुख प्रिगोझिन का वीडियो सामने आया

मास्को: रूस की निजी सेना वैग्नर समूह के प्रमुख येवगेनी प्रिगोझिन का बुधवार को एक वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में येवगेनी प्रिगोझिन अपने सैनिकों को यह कहता दिख रहा है कि अफ्रीका में तैनाती से पहले उन्हें बेलारूस में अपने सैन्य प्रशिक्षण के लिए कुछ समय बिताना होगा. पिछले महीने प्रिगोझिन के नेतृत्व में रूस की निजी सेना ने बगावत कर दी थी.

प्रिगोझिन की वैग्नर निजी सेना कंपनी से संबंधित मैसेजिंग ऐप चैनलों ने कहा कि उन्होंने बेलारूस में एक क्षेत्र शिविर में सैनिकों को संबोधित किया और एक वीडियो जारी किया. शाम के समय तैयार किए गए इस वीडियो में दृश्य धुंधले कर दिए गए हैं. इसमें येवगेनी प्रिगोझिन की छाया नजर आती है और उसकी गंभीर आवाज को स्पष्ट तौर पर सुना जा सकता है.

वीडियो में प्रिगोझिन कहता है, ‘‘स्वागत है आप सभी का. आप सभी का स्वागत कर मुझे खुशी हो रही है. बेलारूस की धरती पर आपका स्वागत है.’’ प्रिगोझिन ने कहा, ‘‘हम सम्मान के साथ लड़े. हमने रूस के लिए काफी कुछ किया है.’’ प्रिगोझिन की बगावत ने राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के 23 साल के शासन के लिए बहुत ही गंभीर खतरा पैदा कर दिया था. यह बगावत हालांकि छोटे स्तर की थी.

ये भी पढ़ें– PHOTOS: पुतिन का ‘यार’ निकला गद्दार! कौन है येवगेनी प्रिगोझिन? जिसने रूसी राष्ट्रपति के खिलाफ फूंक दिया बगावत का बिगुल

नए वीडियो में भी प्रिगोझिन ने यूक्रेन में लड़ाई के फैसले की आलोचना की, वीडियो की प्रामाणिकता की तत्काल पुष्टि नहीं की जा सकी. उसने कहा, ‘‘आज जो भी कुछ सीमा पर हो रहा है वह शर्मिंदगी की बात है जिसमें हमें हिस्सा नहीं लेना चाहिए.’’ उसने कहा कि वैग्नर सेना भविष्य में यूक्रेन लौट सकती है. प्रिगोझिन ने वीडियो में कहा, ‘‘हम विशेष सैन्य अभियान में तभी लौट सकते हैं जब हमें महसूस होगा कि जो हम करेंगे, वह हमारी शर्मिंदगी का कारण नहीं बनेगा.’’

प्रिगोझिन ने कहा, ‘‘हमें अभी इंतजार करने की जरूरत है. इसलिए यह फैसला किया गया है कि हम अभी कुछ समय बेलारूस में बिताएंगे. इस दौरान हम बेलारूस की सेना को दुनिया की दूसरी सबसे ताकतवर सेना बनाएंगे. हम प्रशिक्षित करेंगे, अपने स्तर को बढ़ाएंगे और फिर अफ्रीका की नई यात्रा पर जाएंगे.’’

टैग: रूस, वैगनर समूह

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*