मणिपुर यौन हिंसा मामला: स्‍वाति मालीवाल ने PM मोदी और CM से की ये मांग, मांगी मणिपुर जाने की अनुमति

नई दिल्‍ली. मणिपुर की महिलाओं के साथ यौन हिंसा का एक दुखद वीडियो सामने आने के बाद दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मणिपुर के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है. पत्र में स्‍वाति मालीवाल ने मणिपुर में सामने आई घटना का जिक्र करते हुए कड़ी कार्रवाई की मांग है.

दिल्‍ली महिला आयोग ने लिखा है कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में पुरुषों की एक भीड़ दो महिलाओं को घेरकर ले जा रही है जो उनके साथ बहुत ही अपमानजनक और अमानवीय व्यवहार कर रहे हैं. उन्‍हें नग्न कर घुमाया गया. उनके साथ छेड़छाड़ की गई और फिर सामूहिक बलात्कार किया गया. कथित तौर पर यह घटना 4 मई 2023 को हुई थी, मगर महिलाओं को नग्न कर घुमाने और छेड़छाड़ का वीडियो सामने आने के बाद ही इस घटना के बारे में देश को पता चला.

बताया जा रहा है कि इस मामले में मई में ही एफआईआर दर्ज कर ली गई थी लेकिन अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने घटना पर गहरा दुख और गुस्सा व्यक्त किया है और मणिपुर की स्थिति पर गंभीर सवाल उठाए हैं. उन्होंने इस मामले में राज्य के साथ-साथ केंद्र सरकार की चुप्पी और निष्क्रियता पर सवाल उठाया है. अपने पत्र में उन्होंने कहा है कि राज्य और केंद्र सरकार मणिपुर के निवासियों को सुरक्षित वातावरण प्रदान करने के लिए बाध्य हैं और फिर भी इसे सुनिश्चित करने के लिए कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है.

स्वाति मालीवाल ने इस मामले में प्रधानमंत्री से तत्काल हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया है और उनसे मांग की है कि वे स्थानीय अधिकारियों को इस घृणित कृत्य के सभी दोषियों को पकड़ने की प्रक्रिया में तेजी लाने का निर्देश दें और पीड़िताओं और उनके परिवारों को तुरंत आवश्यक सुरक्षा और सहायता प्रदान की जाए. उन्होंने मामले में त्वरित कार्रवाई करने में विफल रहे दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की भी सिफारिश की है.

इसके अलावा, स्‍वाति ने महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हो रहे अपराधों की गंभीरता का आकलन करने के लिए केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री और राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष द्वारा मणिपुर का कोई दौरा नहीं किए जाने पर आश्चर्य और निराशा व्यक्त की है. उन्होंने प्रधानमंत्री से स्थिति का जायजा लेने के लिए तुरंत मणिपुर का दौरा करने और जरूरत की घड़ी में मणिपुरी महिलाओं के साथ खड़े होने का अनुरोध किया है.

स्वाति मालीवाल ने जमीनी हकीकत को समझने और जल्द से जल्द सरकार को एक तथ्य-खोज रिपोर्ट सौंपने के लिए मणिपुर का दौरा करने की इच्छा भी व्यक्त की है, ताकि राज्य यौन अपराधों के अधिक पीड़ितों तक पहुंचा जा सके और ऐसे अत्याचारों को रोकने के और राज्य में महिलाओं और लड़कियों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए तत्काल कदम उठाये जा सकें.

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा, ‘मणिपुर में लड़कियों पर हो रही क्रूरता को दर्शाने वाला वीडियो देखकर मेरा मन बहुत आहत हुआ है और मैं पूरी रात सो नहीं पाई. उनके साथ किया गया व्यवहार पूरी तरह से मानवाधिकारों का उल्लंघन है और बेहद दुखद है. मणिपुर राज्य तीन महीने से अधिक समय से जल रहा है और महिलाओं और लड़कियों को यौन हिंसा का दंश झेलना पड़ रहा है. मणिपुर के मुख्यमंत्री ने चैनल पर ऑनलाइन कहा है कि यह कोई अकेला मामला नहीं है और पूरे राज्य में ऐसी सैकड़ों एफआईआर दर्ज की गई हैं. ऐसे भयानक अपराधों पर केंद्र और मणिपुर राज्य की चुप्पी और निष्क्रियता देखना निराशाजनक है. मैंने प्रधानमंत्री और मणिपुर के मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर मामले में तत्काल हस्तक्षेप करने और मणिपुर की महिलाओं और लड़कियों के लिए सुरक्षित वातावरण सुनिश्चित करने के लिए पत्र लिखा है. मैंने मणिपुर के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है क्योंकि मैं उस स्थान का दौरा करना चाहती हूं और महिलाओं और लड़कियों से बातचीत करना चाहती हूं ताकि एक विस्तृत रिपोर्ट सरकार को सौंपी जा सके.’

टैग: मणिपुर, मणिपुर हमला, स्वाति maliwal

(टैग्सटूट्रांसलेट)मणिपुर में महिलाओं ने नग्न परेड की(टी)मणिपुर हिंसा(टी)मणिपुर समाचार(टी)स्वाति मालीवाल(टी)दिल्ली महिला आयोग(टी)पीएम नरेंद्र मोदी(टी)स्वाति से मणिपुर सीएम(टी)मणिपुर के मुख्यमंत्री

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*