मणिपुर में महिलाओं से दरिंदगी मामले में 3 अरेस्ट, सीएम बिरेन सिंह बोले- किसी को नहीं छोड़ेंगे, राज्यपाल एक्शन में

इंफाल. मणिपुर हिंसा में 2 आदिवासी महिलाओं को निर्वस्त्र कर निकाले जाने और यातना देने के खौफनाक वीडियो के सामने आने के बाद पूरे देश में बवाल मचा है. मणिपुर के कांगपोकपी जिले के इस वायरल वीडियो में निर्वस्त्र घुमाने वाली भीड़ में शामिल दो और आरोपियों को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया. इस मामने में कुल 3 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है. घटना इतनी भीभत्स है कि वीडियो सामने आते ही सरकार एक्शन में आ गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस पर सख्त रिएक्शन के बाद पुलिस हरकत में आई और सुबह एक और अब दो आरोपियों को पकड़ लिया गया है.

मणिपुर में महिलाओं से दरिंदगी के मामले पर 3 लोगों को अरेस्ट किए जाने के बाद मणिपुर सरकार ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के लिए पुलिस को निर्देश दिए हैं. सीएम बिरेन सिंह ने कहा है कि किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा. गिरफ्तारी को लेकर मुख्यमंत्री ने जानकारी देते हुए वीडियो के आधार पर सभी आरोपियों को चिन्हित किए जाने और जल्द पकड़े जाने की बात कही है.

मणिपुर में जारी हिंसा की घटनाओं के बीच तनाव उस समय और बढ़ गया जब चार मई को कथित तौर पर फिल्माया गया एक वीडियो बुधवार को सामने आया, जिसमें पूर्वोत्तर राज्य में एक समुदाय की दो महिलाओं को दूसरे पक्ष की भीड़ द्वारा निर्वस्त्र घुमाते हुए दिखाया गया है. भीड़ द्वारा रिहा किए जाने से पहले दोनों महिलाओं का कथित तौर पर यौन उत्पीड़न किया गया था, जिसमें बहुसंख्यक समुदाय शामिल था.

आरोपियों पर संगीन धाराओं में दर्ज किया गया मामला
मणिपुर पुलिस ने देशभर में कइस घटना पर दिख रहे आक्रोश के बाद मुख्य आरोपियों में से एक को गिरफ्तार किया था, जो बुधवार को सामने आए 26 सेकंड के वीडियो में भीड़ को निर्देशित करता दिखाई दे रहा था. 32 वर्षीय हुइरेम हेरादाश सिंह को थौबल जिले से गिरफ्तार किया गया. इस बीच, अधिकारियों ने इसमें शामिल अन्य लोगों को पकड़ने के लिए अभियान शुरू कर दिया है. वीडियो पर स्वत: संज्ञान लेते हुए पुलिस ने थौबल जिले के नोंगपोक सेकमई पुलिस थाने में अज्ञात हथियारबंद लोगों के खिलाफ अपहरण, सामूहिक बलात्कार और हत्या का मामला दर्ज किया है.

लगातार हो रही छापेमारी
सीएम ने कहा है कि अपराधियों को जल्द से जल्द पकड़ने के लिए सभी प्रयास किए जा रहे हैं. वरिष्ठ आईपीएस अधिकारियों की निगरानी में लगातार छापेमारी की जा रही है. सीएम ने कहा कि इस मामले में किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा.

टैग: इंफाल समाचार, मणिपुर सेमी, मणिपुर समाचार, मणिपुर हिंसा, Narendra modi



Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*