बजरंग-व‍िनेश को एशियन गेम्‍स ट्रायल्‍स में छूट देने पर बवाल, द‍िल्‍ली HC पहुंचा मामला, WFI को आज ही दाख‍िल करना होगा हलफनामा, सुनवाई कल

हाइलाइट्स

बृजभूषण समेत दिग्गज पहलवान योगेश्वर दत्त ने भी कमेटी के न‍िर्णय पर उठाये सवाल
बृजभूषण ने कहा, एडहॉक पैनल के फैसला से काफी दु:खी हूं
पूरे मामले पर ड‍िटेल में कल शुक्रवार को होगी सुनवाई, WFI को आज ही दाख‍िल करना होगा हलफनामा

नई दिल्ली. भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) की एडहॉक कमेटी की ओर से ओलंपिक मेडलिस्ट बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) और वर्ल्ड चैंपियनशिप की पदक विजेता विनेश फोगाट (Vinesh Phogat) को आगामी एशियाई खेलों (Asian Games 2023) के ट्रायल्स में छूट देने के मामले को लेकर विवाद खड़ा हो गया है. इंडियन ओलंपिक एसोसिएशन (IOA) की एडहॉक कमेटी के इस फैसले की चौतरफा न‍िंदा भी हो रही है. कई ख‍िलाड़ी इस न‍िर्णय का खुलकर व‍िरोध भी कर रहे हैं. ऐसे में अब यह मामला अदालत में पहुंच गया है. द‍िल्‍ली हाईकोर्ट ने इस मामले में दायर याच‍िका पर संज्ञान लेते हुए भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) से जवाब तलब क‍िया है. इस मामले में सुनवाई के लिए अगली तारीख 21 जुलाई मुकर्रर की गई है.

पहलवान बजरंग पूनिया और विनेश फोगाट को एशियाई खेलों (Asian Games 2023) के ट्रायल्स में दी गई छूट के ख‍िलाफ पहलवान अंतिम पंघाल और सुजीत कलकल की ओर से द‍िल्‍ली हाईकोर्ट में याच‍िका दायर की गई है. इस याच‍िका पर हाईकोर्ट ने संज्ञान लेते हुए डब्ल्यूएफआई से जवाब भी मांगा है. इस पूरे मामले पर ड‍िटेल में सुनवाई शुक्रवार, 21 जुलाई को होगी. वहीं कोर्ट ने डब्ल्यूएफआई को आज ही हलफनामा दाखिल करने के भी निर्देश दिए हैं.

ये निर्णय देश की कुश्ती को गर्त में मिला देगा, इस खेल को … बजरंग-विनेश को ट्रायल्स से छूट मिलने पर बृजभूषण बौखलाए

उधर, इंडियन रेसलिंग फेडरेशन (WFI) के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह (Brijbhushan Sharan Singh) ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए इस फैसले से कुश्ती को गर्त में मिलाने की बात कहकर कड़ी न‍िंदा की है.

बृजभूषण का कहना है क‍ि एडहॉक पैनल ने जो फैसला किया है उससे मैं काफी दु:खी हूं. ये निर्णय इस देश की कुश्ती को गर्त में मिला देगा. इस खेल को ऊपर लाने में काफी लोगों ने मेहनत की है. खिलाड़ियों, उनके माता-पिता और इस खेल के प्रशंसकों ने बहुत मेहनत की है. बृजभूषण सहित दिग्गज पहलवान योगेश्वर दत्त ने भी कमेटी के न‍िर्णय पर सवाल खड़े क‍िए हैं.

टैग: Bajrang punia, दिल्ली उच्च न्यायालय, भारतीय पहलवान, Vinesh phogat

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*