‘4 मोबाइल फोन, 5 पाकिस्तानी पासपोर्ट…’, सीमा हैदर पर कसा शिकंजा, पूछताछ के बाद क्या बोली यूपी ATS

नई दिल्ली. भारत में अवैध तरीके से घुसी पाकिस्तानी नागरिक सीमा हैदर के खिलाफ शिकंजा कसता दिख रहा है. यूपी एटीएस की टीम ने सीमा हैदर और उसके प्रेमी सचिन मीणा के खिलाफ पूछताछ पूरी कर ली है और अब अपनी रिपोर्ट यूपी के गृह विभाग को भेजने की तैयारी में है.

एटीएस की ओर से जारी आधिकारिक विज्ञप्ति में अभी तक सीमा हैदर के खिलाफ जासूसी या किसी संदिग्ध गतिविधि की बात सामने नहीं आई है. उसके पास से दो वीडियो कैसेट, 4 मोबाइल फोन, 5 पाकिस्तानी पासपोर्ट बरामद हुआ है, जिसमें एक पासपोर्ट पर अधूरा नाम और पता दर्ज है. प्रेस नोट में बताया गया है कि भारत में गैरकानूनी ढंग से प्रवेश करने के जुर्म में सीमा हैदर और उसके चार बच्चों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा रही है.

सीमा हैदर ने यूपी एटीएस को बताई पूरी कहानी
यूपी एटीएस की ओर से जारी प्रेसनोट में सीमा हैदर और सचिन मीणा के बीच पब्जी से शुरू हुई इस लव स्टोरी की सिलसिलेवार ढंग से पूरी कहानी बताई गई है. एटीएस के मुताबिक, सीमा ने पूछताछ में बताया कि सन 2020 में पब्जी ऑनलाइन गेम के जरिये वह सचिन मीणा के संपर्क में आई थी. इसके बाद दोस्ती बढ़ने पर दोनों वॉट्सएप पर बात करते थे.

ये भी पढ़ें- ‘वो जींस पहनती थी…’, नेपाल में रूम नंबर 204 और सीमा हैदर का बड़ा खुलासा? होटल मालिक ने खोले राज़

सीमा हैदर ने बताया कि वह 10 मार्च 2023 को टूरिस्ट वीजा पर कराची एयरपोर्ट से शारजाह एयरपोर्ट और वहां से काठमांडू पहुंची थी. उधर सचिन मीणा भी भारत से काठमांडू पहुंचा था, जहां 10 से लेकर 17 मार्च तक दोनों साथ रहे. इसके बाद सीमा 17 मार्च को पाकिस्तान वापस चली गई.

वहीं सचिन मीणा ने बताया कि वह 8 मार्च को नोएडा से गोरखपुर गया और फिर वहां से 9 मार्च को सोनौली बॉर्डर के जरिये काठमांडू पहुंचा था. वहां न्यू विनायक होटल में वह और सीमा 7 दिनों तक साथ रहे. इसके बाद दोनों अपने-अपने रास्ते से वापस अपने देश चले गए.

सीमा हैदर के पास कहां से आएं पैसे
सीमा हैदर ने यूपी एटीएस की पूछताछ में बताया कि पति वर्ष 2019 से ही सऊदी अरब में नौकरी कर रहा है. वह घर खर्च के लिए हर महीने 70- 80 हज़ार रुपये सऊदी से भेजता था, जिसमें से सीमा करीब 20 से 25 हज़ार रुपये बचा लिया करती थी. सीमा ने उन पैसों से अपने गांव में 10-10 हज़ार रुपये की 20 महीने के लिए दो कमेटी भी डाली थी. ये दोनों कमेटी खुलने पर उसके पास दो लाख रुपए जमा हो गए थे. इस कमेटी और अपनी बचत के पैसे से सीमा हैदर ने 12 लाख रुपये में एक मकान खरीदा था. हालांकि तीन महीने बाद ही उसने 12 लाख रुपए में वह मकान बेच दिया.

इस रूट से काठमांडू से नोएडा पहुंची सीमा
यूपी एटीएस के मुताबिक, सीमा हैदर ने बताया कि वह 11 मई को अपने चारों बच्चों को लेकर टूरिस्ट वीजा पर पाकिस्तान से काठमांडू पहुंची और वहां से 13 मई को भारत आ गई. उसने बताया कि अपने चारों बच्चों को लेकर वह पब्लिक ट्रांसपोर्ट वैन में बैठकर पहले काठमांडू से पोखरा गई. फिर 12 मई 2023 की सुबह पोखरा से बस पकड़ कर रूपनदेही खुनवा बॉर्डर से होते यूपी के सिद्धार्थ नगर में पहुंची और वहां से लखनऊ, आगरा होते हुए 13 मार्च को नोएडा पहुंची थी.

एटीएस के मुताबिक, सीमा 13 मई से ही सचिन मीणा के साथ नोएडा के रबूपुरा में किराए के मकान में रहने लगी थी. हालांकि इस बीच पुलिस को उनकी खबर लग गई, जिसके बाद 4 जुलाई 2023 को नोएडा पुलिस ने सीमा गुलाम हैदर को  गिरफ्तार कर लिया था. रबूपुरा पुलिस ने सचिन मीणा, सीमा गुलाम हैदर ,सचिन के पिता नेत्रपाल को विदेशी अधिनियम और अपराधिक साजिश के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. ये तीनों आरोपी फिलहाल जमानत पर बाहर हैं.

यूपी एटीएस ने प्रेस नोट में बताया कि सीमा हैदर के पास से 2 वीडियो कैसेट, 4 मोबाइल फोन, 5 पाकिस्तानी पासपोर्ट बरामद हुए हैं, जिसमें से एक पासपोर्ट मेंअधूरा नाम और पता दर्ज है. एटीएस ने साथ ही बताया कि अब तक पूछताछ में जासूसी को लेकर कोई सबूत नहीं मिले हैं, लेकिन भारत में गैरकानूनी रूप से प्रवेश करने के जुर्म में सीमा हैदर और उसके चार बच्चों पर कानूनी कार्रवाई की जा रही है.

टैग: सीमा हैदर, यूपी एटीएस

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*