फर्टिलिटी को कबाड़ कर सकती हैं ये चीजें, तुरंत सुधार लें अपनी आदतें, वरना नपुंसकता को देगी दावत

हाइलाइट्स

ज्यादा वजन स्पर्म के लिए दुश्मन है. मोटापे के कारण स्पर्म की गुणवत्ता प्रभावित होती है.
कोकीन, हीरोइन, गांजा आदि स्पर्म की क्वालिटी और प्रोडक्शन दोनों को खराब करते हैं.

बुरी आदतें बढ़ाती हैं बांझपन: आजकल पुरुषों में फर्टिलिटी की समस्या बढ़ती जा रही है. इनफर्टिलिटी के कारण न सिर्फ पिता बनने की उम्मीदों पर पानी फिरता है बल्कि इससे मानसिक समस्याएं भी आ खड़ी होती है. आधुनिक समय में हम नेचुरल चीजों की जगह बनावटी चीजों का ज्यादा उपभोग करने लगे हैं जिसके कारण खाद्य पदार्थ भी असली नहीं होते. हमारे रोजाना के जीवन में कई चीजें आर्टिफिशियल होती है. इन सब कारणों से पुरुषों में नपुंसकता की समस्या बढ़ रही है. हालांकि पुरुषों की नपुंसकता के लिए सबसे ज्यादा हमारा लाइफस्टाइल और हमारी गंदी आदतें जिम्मेदार हैं.

एक रिपोर्ट के मुताबिक कंसीव करने से संबंधित महिलाओं में जितनी परेशानियां होती हैं उनमें आधे के लिए पुरुषों के खराब स्पर्म जिम्मेदार होते हैं. कुछ पुरुषों में स्पर्म की संख्या बहुत कम होती है और स्पर्म की क्वालिटी खराब होती है. इसे ओलिगोस्पर्मिया कहते हैं. मायो क्लिनिक के मुताबिक एक वयस्क पुरुष में अगर प्रति मिलीलीटर सीमने में 1.5 करोड़ से कम स्पर्म की संख्या है तो इसे स्पर्म की कमी माना जाता है. इससे कम स्पर्म प्रेग्नेंसी के लायक नहीं बन पाता है.

खराब स्पर्म के लिए जिम्मेदार ये आदतें

1. शराब-मायो क्लिनिक के मुताबिक शराब हमारी पूरी हेल्थ के लिए दुश्मन है. लगभग हर कोई इस बात को जानता हूं. इसके बावजूद लोग शराब पीते हैं. अगर आप युवा उम्र से शराब की गंदी आदत में लिप्त हो गए हैं तो यह सबसे ज्यादा आपकी फर्टिलिटी को कबाड़ करेगी. इसलिए यदि आप चाहते हैं कि आपके पिता बनने में कोई दिक्कत न हो तो शराब का सेवन न करें.

2.ड्रग्स – स्पर्म की क्वालिटी के लिए ड्रग्स बहुत बड़ा विलेन है. इन पदार्थों का सेवन स्पर्म की संख्या और गुणवत्ता दोनों पर असर करता है. मसल्स बनाने के लिए जिन एनाबोलिक स्टेरॉयड का इस्तेमाल किया जाता है, उससे भी ड्रग्स की मात्रा होती है, इसलिए यह भी स्पर्म की गुणवत्ता खराब करता है. कोकीन, हीरोइन, गांजा आदि स्पर्म की क्वालिटी और प्रोडक्शन दोनों को खराब करते हैं.

3. सिगरेट-तंबाकू-तंबाकू और सिगरेट पर कैंसर का निशान होता है. यानी तंबाकू से कैंसर होता है, यह भी हम जानते हैं लेकिन तंबाकू का किसी भी रूप में इस्तेमाल किया जाए, यह पुरुष के स्पर्म काउंट को बहुत कम कर देता है.

4. स्ट्रैस-स्ट्रेस या तनाव स्पर्म की गुणवत्ता को कबाड़ कर देता है. अगर कोई पुरुष बहुत अधिक भावनात्मक तनाव में रहता है तो उसके स्पर्म की संख्या और गुणवत्ता प्रभावित होती है. तनाव के कारण टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का उत्पादन कम होता है जिसकी वजह से स्पर्म का प्रोडक्शन भी कम होने लगता है.

5. मोटापा-ज्यादा वजन स्पर्म के लिए दुश्मन है. मोटापे के कारण स्पर्म की गुणवत्ता प्रभावित होती है. ज्यादा वजन खराब खान-पान की वजह से होता है. प्रोसेस्ड फूड, फास्ट फूड, ज्यादा डीप फ्राई वाली चीजें आदि स्पर्म प्रोडक्शन के लिए जिम्मेदार हार्मोन को बिगाड़ देता है जिससे स्पर्म की क्वालिटी और संख्या दोनों कमजोर होती है.

इसे भी पढ़ें-पेट की गंदगी को क्लीन स्वीप कर देंगी ये 3 हर्बल टी, रात में सोने से पहले कर लें सेवन, सुबह बोझ हो जाएगा हल्का

इसे भी पढ़ें-बारिश के मौसम में स्ट्रीट फूड से क्यों रहना चाहिए दूर, शरीर बेवजह बन जाता है बीमारियों का घर, गलतियां पड़ सकती है भारी

टैग: स्वास्थ्य, स्वास्थ्य सुझाव, जीवन शैली

(टैग्सटूट्रांसलेट)क्या शुक्राणुओं की संख्या को खत्म करता है(टी)खाद्य पदार्थ जो शुक्राणुओं को मारते हैं(टी)खाद्य पदार्थ जो शुक्राणु की मात्रा बढ़ाते हैं(टी)कौन से खाद्य पदार्थ तेजी से शुक्राणु पैदा करते हैं(टी)शुक्राणु की रिकवरी के लिए सबसे अच्छा भोजन(टी)रातोंरात शुक्राणु की मात्रा कैसे बढ़ाएं(टी) शुक्राणुओं की संख्या(टी)प्रजनन स्वास्थ्य(टी)आपकी प्रजनन क्षमता में सुधार(टी)बुरी आदतें जो शुक्राणुओं की संख्या को कम करती हैं(टी)बुरी आदतें जो प्रजनन क्षमता को नुकसान पहुंचाती हैं(टी)ऐसी आदतें जो शुक्राणुओं की संख्या को कम करने के लिए जिम्मेदार हैं(टी)पुरुषों की सेक्स ड्राइव में कमी(टी) )शुक्राणु संख्या कैसे बढ़ाएं

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*