जोधपुर हत्याकांड का खुलासा: 19 साल का भतीजा ही बन गया था हैवान, बदले की आग में कर डाले 4 कत्ल

हाइलाइट्स

जोधपुर के ओसियां थाना इलाके की है वारदात
पुलिस ने हत्या के आरोपी पप्पू राम को किया गिरफ्तार
आरोपी अपने भाई की मौत का बदला चाचा के बेटे से लेना चाहता था

जोधपुर. जोधपुर के ओसियां थाना इलाके के रामनगर में एक ही परिवार के चार सदस्यों की हुई हत्या के मामले का पुलिस ने महज कुछ घंटों में राजफास कर दिया है. यह हत्या किसी और ने नहीं बल्कि परिवार के ही एक युवक ने की थी. यह युवक हत्या के शिकार हुए दंपति का भतीजा है. पुलिस ने इस सनसनीखेज वारदात का महज सात-आठ घंटों में खुलासा करते हुए आरोपी युवक पप्पूराम (19) को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी युवक से पूछताछ की जा रही है.

पुलिस के अनुसार हत्या के शिकार हुए पुनाराम के भैराराम समेत दो और भाई हैं. इनमें एक भाई का कोई उत्तराधिकारी नहीं है. जबकि दूसरे भाई भैराराम का एक बेटा पहले गुजरात के सूरत में रहता था. वहां उसने आत्महत्या कर ली थी. उसके बाद से भैराराम को इस बात को लेकर शक था कि उसके भाई पूनाराम ने उसकी हत्या करवाकर आत्महत्या का रंग दे दिया है. इस बात को लेकर दोनों भाइयों में अक्सर विवाद रहता था.

भाई की हत्या का बदला लेना चाहता था पप्पू राम
वहीं भैराराम को इस बात का भी शक था कि कहीं पुनाराम तीसरे भाई की जमीन ना बेच दे. पिछले दिनों पुनाराम और भैराराम में विवाद हो गया. भैराराम ने फिर पूनाराम पर अपने बेटे की हत्या कर देने का आरोप लगाया. इस पर आवेश में आकर पूनाराम ने कह दिया कि हां मैने तेरे बेटे की हत्या करवाई है क्या कर लेगा? उसके बाद से भैराराम का सबसे छोटा बेटा पप्पूराम मन ही मन में अपने भाई की हत्या का बदला लेने की योजना बनाने लगा.

राजस्थान: एक ही परिवार के 4 सदस्यों की हत्या, शव झोपड़ी में डालकर लगा दी आग, सकते में आए ग्रामीण

रेवतराम घर पर नहीं मिला था सबको मार डाला
पप्पूराम अपने चाचा पूनाराम के बेटे रेवतराम की हत्या कर भाई की हत्या का बदला लेना चाहता था. इसके चलते वह बुधवार को अलसुबह रेवतराम की हत्या करने के उद्देश्य से अपने चाचा पुनाराम के यहां गया. लेकिन रेवतराम मंगलवार रात ही ट्यूबवेल पर जाकर सो गया था. वह घर पर नहीं मिला. इस पर गुस्साए पप्पू ने घर में जितने भी लोग थे सभी का गला काट डाला. फिर झोपड़ी में ले जाकर पटक दिया. उसके बाद झोंपड़ी में आग लगा दी. फिर वहां से फरार हो गया.

ग्रामीणों ने बुझाई थी झोंपड़ी की आग
बुधवार को सुबह जब ग्रामीणों ने पुनाराम की झोपड़ी से आग निकलती देखी तो वे वहां पहुंचे. उन्होंने आग बुझाई. उसके बाद अंदर जाकर देखा तो पुनाराम (60), उसकी पत्नी भंवरी देवी (55), पुत्रवधू धापू (25) और उसकी छह माह की बेटी मनीषा के शव अधजली हालत में पड़े थे. उसके बाद ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी. ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची. वारदात के बाद रामनगर गांव में मातम पसर गया.

टैग: अपराध समाचार, जोधपुर समाचार, हत्या का मामला, राजस्थान समाचार

(टैग्सटूट्रांसलेट)जोधपुर हत्याकांड(टी)जोधपुर सामूहिक हत्याकांड(टी)जोधपुर सामूहिक हत्याकांड का खुलासा(टी)जोधपुर परिवार हत्याकांड(टी)जोधपुर समाचार(टी)जोधपुर(टी)जोधपुर अपराध समाचार(टी)जोधपुर अपराध कहानी( टी)जोधपुर की डरावनी कहानी(टी)जोधपुर हिंदी समाचार(टी)ओसियां ​​हत्याकांड(टी)ओसियां ​​सामूहिक हत्याकांड(टी)ओसियां ​​सामूहिक हत्याकांड का खुलासा(टी)जोधपुर आज की खबर(टी)राजस्थान(टी)राजस्थान सामूहिक हत्याकांड( t)राजस्थान सामूहिक हत्याकांड का खुलासा

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*