17 साल से गायब था बेटा, महज एक फेसबुक पोस्ट का कमाल, यूं हुआ मां-बेटे का मिलना

हाइलाइट्स

17 साल पहले नौकरी की तलाश में ब्रिटेन गए शख्स का नहीं था परिवार से संपर्क.
नई दिल्ली में एक एक्टिविस्ट और वकील के कारण वह अपने परिवार से फिर मिला.
ये शख्स भारतीय उच्चायोग से जारी आपातकालीन प्रमाणपत्र पर दिल्ली पहुंचा था.

नई दिल्ली. केरल का एक युवक 17 साल पहले नौकरी की तलाश में ब्रिटेन (Britain) गया था, लेकिन तब से उसका अपने परिवार के साथ कोई संपर्क नहीं था. नई दिल्ली में एक एक्टिविस्ट और वकील के कारण वह अपने परिवार से फिर मिल गया है. मूल रूप से तिरुवनंतपुरम (Thiruvananthapuram) के नगरूर का रहने वाला 37 साल का ये शख्स लंदन में भारतीय उच्चायोग (High Commission) से जारी किए गए आपातकालीन प्रमाणपत्र पर 6 जुलाई को दिल्ली पहुंचा था. 10 जुलाई को वकील दीपा जोसेफ (Deepa Joseph) इंटरनेशनल टर्मिनल पर मौजूद थीं. उन्होंने वहां एक शख्स को कैफेटेरिया के कर्मचारियों के साथ झगड़ा करते देखा. जिनका कहना था उसने कथित तौर पर प्रदर्शन के लिए रखा खाना चुरा लिया था.

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक दीपा ने इस बहसबाजी में दखल दिया और खाने के लिए पैसे का भुगतान किया. उन्होंने कहा कि ‘जब मुझे पता चला कि वह आपातकालीन पासपोर्ट पर भारत पहुंचे हैं, तो मैंने उनकी जानकारी मांगी. वह केरल में अपने परिवार के बारे में साफ जवाब नहीं दे सके. वह परेशान लग रहे थे. उसके पास केवल दो डॉलर और बिना सिम कार्ड वाला एक पुराना मोबाइल फोन था. चूंकि मेरा कार्यक्रम पहले से तय था, इसलिए मैं उनकी मदद के लिए वहां रुक नहीं सकी.’ लेकिन उसने उसकी तस्वीरें अपने फेसबुक पेज पर इस उम्मीद से पोस्ट कीं कि उसकी पहचान हो जाएगी.

दीपा की उम्मीद रंग लाई. उन्होंने कहा कि ‘उसी शाम एक शख्स ने अपने पते के साथ उस इलाके में एक पुलिस अधिकारी का संपर्क नंबर शेयर किया. जब मैंने पुलिस से संपर्क किया, तो उन्होंने मुझे बताया कि उसकी मां पहले ही स्टेशन पहुंच चुकी थीं. उन्होंने मुझे बताया कि फोटो में दिख रहा शख्स उनका बेटा है, जो 17 साल पहले ब्रिटेन चला गया था और अपने परिवार से उसका संपर्क टूट गया था.’ इसके बाद दीपा दिल्ली में उसका पता लगाने निकलीं.

1 हफ्ते में तीसरे भारतीय का मर्डर, लंदन में रूममेट ने केरल के शख्स की चाकू घोंपकर की हत्या, आरोपी अरेस्ट

रविवार को वह शख्स अपनी मां से मिला, जो तब तक दिल्ली पहुंच चुकी थीं. उस आदमी की मां ने कहा कि ‘वह 17 साल पहले ब्रिटेन गया था, लेकिन उसने मुझे वहां नौकरी के बारे में कभी नहीं बताया. वह कभी कभार ही फोन करता था. मुझे लगा कि मैंने उसे हमेशा के लिए खो दिया है.’

टैग: ब्रिटेन समाचार, भारत ब्रिटेन, केरल समाचार, केरल समाचार आज

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*