क्या आप भी सुबह उठकर पीते हैं अधिक पानी? सेहत को हो सकते हैं 3 बड़े नुकसान, जानिए क्या है एक्सपर्ट की राय

हाइलाइट्स

डॉक्टर मानते हैं कि एक स्वस्थ व्यक्ति को दिनभर में 2-4 लीटर पानी ही पीना चाहिए.
जिम, एक्सरसाइज, अधिक मेहनत या तेज गर्मी में पानी की मात्रा कुछ बढ़ भी सकती है.
रोजाना 5-6 लीटर से अधिक पानी पीने से आपके स्वास्थ्य पर गलत असर पड़ सकता है.

अधिक पानी पीने के दुष्प्रभाव: शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पानी पीना बेहद फायदेमंद होता है. यह डिहाइड्रेशन की परेशानी तो दूर करता ही है, साथ ही स्किन को भी हेल्दी रखने का काम करता है. बेशक पानी पीने के अनगिनत फायदे हों, लेकिन इसकी सही मात्रा जरूरी है. ज्यादातर लोग सुबह उठकर पानी का सेवन करते हैं, लेकिन कई लोग मुहासों और ड्राईनेस जैसी परेशानी से बचने के लिए अधिक मात्रा में पानी पी जाते हैं, जोकि नुकसानदायक हो सकता है. आमतौर पर डॉक्टर मानते हैं कि एक स्वस्थ व्यक्ति को दिनभर में 2-4 लीटर पानी ही पीना चाहिए. हालांकि, जिम, एक्सरसाइज, अधिक मेहनत या गर्मी में इसकी मात्रा कुछ बढ़ भी सकती है. मगर सामान्य तौर पर आप रोज 5-6 लीटर से अधिक पानी पीते हैं, तो यह आपके स्वास्थ्य पर गलत असर भी डाल सकता है. आइए गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज (कन्नौज) के कम्युनिटी मेडिसिन हेड प्रोफेसर डॉ. डीएस मर्तोलिया से जानते हैं अधिक पानी पीने के नुकसान और कैसे जानें अधिक पानी पी रहे हैं आप.

अधिक पानी पीना नुकसानदायक क्यों?

डॉ. मर्तोलिया के मुताबिक, यदि आप दिनभर में अपने शरीर की जरूरत से अधिक मात्रा में पानी पीते हैं या फिर आपको हर दो से तीन मिनट में प्यास लगती है तो सावधान हो जाना चाहिए. क्योंकि मिनट-मिनट में प्यास लगने की आदत एक मेंटल और न्यूरोलजिकल समस्या की ओर इशारा करती है. बता दें कि, अधिक पानी पीने से ब्लड में सोडियम की मात्रा कम हो जाती है. इसी का नतीजा है कि बेचैनी, थकान, चक्कर आना, बीपी लो, मितली आना जैसी समस्याएं होने लगती हैं. इसके अलावा अधिक मात्रा में पानी पीने से बॉडी की अंदरूनी कोशिकाओं में पानी की सूजन बढ़ जाती है. इस स्थिति से जब ब्रेन गुजरता है तो कई न्यूरोलजिकल बदलाव होते हैं और कोमा की स्थिति भी बन जाती है. मेडिकल की भाषा में कोमा के लिए जिम्मेदार इस स्थिति को हाइपोनेट्रेमिया कहते हैं.

दिनभर में कितना पीना पानी सही

इंसानी शरीर का करीब 70 फीसदी हिस्सा पानी पर निर्भर रहता है. इस स्थिति में शरीर में पानी की कमी होना नुकसानदायक हो सकता है. हालांकि पानी पीने की उचित मात्रा जरूरी है. सामान्यता दिनभर में दो से तीन लीटर पानी पीना ही सेहत के लिए अच्छा होता है. यदि आप पानी पीने की सही मात्रा जानना चाहते हैं तो आप इसके लिए 1 लीटर की बॉटल लें और दिनभर पानी पीने के लिए इसी का उपयोग करें. ऐसा करने से आप आसानी से पता लगा सकते हैं कि दिनभर में कितना पानी पीते हैं.

अधिक पानी पीने से बढ़ सकता है वजन

एक्सपर्ट के मुताबिक, अधिक पानी पीने के वजन बढ़ने का खतरा रहता है. क्योंकि हमारा वजन उस स्थित में ही बढ़ता है, जब हमारे शरीर में फैट जमा हो जाता है. इस फैट में सेल्स में पानी की मात्रा भी होती है. इस स्थिति में यदि आप अधिक पानी पीते हैं तो किडनी पूरे पानी को शरीर से बाहर निकाल नहीं पाती है. यही बचा हुआ पानी शरीर में इलेक्ट्रोलाइट का बैलेंस बिगाड़ देता है, जिससे पानी शरीर में जमा हो जाता है और आपका वजन बढ़ जाता है.

दिमाग में सूजन की भी हो सकती परेशानी

डॉ. मर्तोलिया के मुताबिक, शरीर में अधिक मात्रा में पानी होने पर सोडियम का लेवल तेजी से कम होता है. सोडियम का लेवल कम होने से दिमाग में सूजन आने का खतरा बढ़ सकता है. बता दें कि, अधिक मात्रा में पानी पीने से बॉडी में असामान्य रूप से सोडियम कम होने लगता है, जिसके चलते हाइपोट्रिमिया का भी खतरा बढ़ जाता है. क्योंकि सोडियम एक तरह का इलेक्ट्रोलाइट है, जो हमारे बॉडी में पानी की मात्रा को नियंत्रित करने का का करता है.

ये भी पढ़ें: क्या आप में भी है मोटी तकिया लगाकर सोने की आदत? तुरंत छोड़ें, वरना 5 बड़ी परेशानियों का हो सकते हैं शिकार

किडनी पर गलत असर डाल सकता अधिक पानी

शरीर को बेशक पानी की आवश्यकता होती है, लेकिन एक उचित मात्रा से अधिक नहीं. क्योंकि शरीर में अधिक पानी होने से कई तरह की परेशानियां होने लगती हैं. बता दें कि, अधिक पानी पीने से ओवरहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है, जो सीधे तौर पर किडनी पर असर डालता है. ऐसे में यदि शरीर में अधिक पानी होगा तो फिल्टर करने में परेशानी पैदा होगी. इससे किडनी फेल होने का भी खतरा बढ़ सकता है.

ये भी पढ़ें: मानसून में बेहद करामाती हैं इस पेड़ की पत्तियां, नियमित सेवन से होंगे 5 बड़े फायदे, बैक्टीरिया से भी होगा बचाव

टैग: स्वास्थ्य समाचार, स्वास्थ्य सुझाव, जीवन शैली

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*