Haryana Flood: बाढ़ के पानी में डूबे खेत-खलियान देखकर किसान को लगा सदमा, मौत

यमुनानगर. हरियाणा में लगातार बारिश के बाद घर बाजार से लेकर खेत खलियान तक, जहां भी नजर जाती है, हर तरफ पानी ने कब्जा जमा रखा है. हरियाणा के यमुना नगर जिले में सरस्वती नगर का गांव सुखदासपुर भी इस से अछूता नहीं है.

चेतंग नदी ओवर फ्लो होने से भी गांव सुखदासपुर में पानी का इजाफा हुआ है. खेतों में खड़ी किसानों की धान बाढ़ के पानी में डूब गई और गांव की मुख्य सड़क पर भी करीब चार फुट तक पानी जमा है.

बाढ़ की वजह से गांव के 50 वर्षीय किसान इंद्राज को अपने खेतों की चिंता सताने लगी और जैसे तैसे वह अपने खेतों को देखने चले गए. मगर जब उन्होंने अपने खेतों का नजारा देखा तो उनके पैरों तले जमीन खिसक गई. उनकी फसल बर्बाद हो चुकी थी और इससे उन्हें गहरा सदमा पहुंचा.

घर पहुंचते पहुंचते इंद्राज की तबियत बिगड़नी शुरू हो गई. सड़कों पर पानी भरा होने के चलते परिजन उन्हें ट्रैक्टर पर डॉक्टर के पास ले गए. रास्ते क्लियर नही मिले लिहाजा डॉक्टर तक पहुंचते पहुंचते बहुत समय लग गया. पड़ोसी दीप चंद ने बताया कि डॉक्टर ने जांच के बाद इंद्रराज को मृत घोषित कर दिया. सरपंच भूपिंदर सैनी ने बताया कि गांव के पास से चेतंग नदी निकलती है. चेतंग नदी ओवरफ्लो होने की वजह से खेतों में पानी भर गया है.

उन्होंने बताया कि इंद्राज का दाह संस्कार करने में भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ा, जिन सगे संबंधियों व रिश्तेदारों ने आना था, उन्हें ट्रैक्टर-ट्रॉली की मदद से सरस्वती नगर से सुखदासपुर लाया गया. उन्होंने कहा कि गांव से बाहर जाने व आने के लिए सिर्फ ट्रैक्टर ही सहारा है. माना जा रहा है दिल का दौरा पड़ने से किसान की मौत हुई है. हालांकि, जांच के बाद ही मौत के सही कारणों का पता चल सकता है.

टैग: बाढ़ की चेतावनी, हरियाणा के सीएम, यमुना नदी

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*