भारत और चांद: इसरो की 55 वर्षों की तपस्या, अनगिनत मुश्किलें और चुनौतियां, तब जाकर लहराया परचम

02

भारत 1969 में बैंकों के राष्ट्रीयकरण की पीड़ा से गुजर रहा था, सत्तारूढ़ कांग्रेस के भीतर उथल-पुथल चल रही थी, जिसके कारण अंततः एक असुरक्षित प्रधानमंत्री के रूप में इंदिरा गांधी द्वारा अधिक से अधिक शक्तियों का केंद्रीकरण हो गया, जिसके परिणामस्वरूप 6 साल बाद 25 जून, 1975 को आपातकाल लगा. लेकिन उस पल की भावना, ‘मनुष्य के लिए एक छोटा कदम, मानव जाति के लिए एक बड़ी छलांग’ ने इन सभी अंतर्निहित तनावों को खत्म कर दिया. (फोटो thiruvananthapuramupdates.wordpress.com)

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*