web site hit counter

नई दिल्‍ली. वेस्‍टइंडीज के खिलाफ टेस्‍ट सीरीज के पहले मैच के पहले ही दिन रोहित शर्मा की टीम इंडिया ने मेजबान पर शिकंजा कस दिया है. आर. अश्विन की अगुवाई में भारतीय गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के चलते इंडीज टीम की पहली पारी 64.3 ओवर्स में महज 150 रनों पर सिमट गई. जवाब में टीम इंडिया ने दिन का खेल खत्‍म होने तक बिना विकेट खोए अपना स्‍कोर 80 रन तक पहुंचा लिया था. स्‍टंप्‍स के समय यशस्‍वी जायसवाल 40 और कप्‍तान रोहित शर्मा 30 रन बनाकर क्रीज पर थे.

मैच का पहला दिन ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin)के नाम रहा. उन्होंने 24.3 ओवर के अपने स्‍पैल में महज 60 रन देकर 5 विकेट लिए. अपने इस ‘पंजे’ के साथ उन्‍होंने वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप (CC World Test Championship) के फाइनल में उन्‍हें नहीं खिलाने के भारतीय टीम मैनेजमेंट के फैसले को गलत साबित कर दिया. टेस्‍ट क्रिकेट में उन्‍होंने 33वीं बार पांच या इससे अधिक विकेट हासिल किए हैं.

आर अश्विन (R. Ashwin) ने अल्जारी जोसफ को आउट कर इस पारी का तीसरा विकेट झटका. इसी के साथ भारतीय दिग्गज ने अपने 700 इंटरनेशनल विकेट भी पूरे कर लिए. इसके साथ ही उन्‍होंने टेस्‍ट क्रिकेट में 5 Wickets Haul के इंग्‍लैंड के स्‍टार तेज गेंदबाज जेम्‍स एंडरसन (James Anderson)के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया. एंडरसन ने 181 टेस्‍ट में 32 बार पांच या इससे अधिक विकेट लिए हैं जबकि यह यह 93वां टेस्‍ट ही है.पांच या इससे अधिक लेने के मामले में रंगना हेराथ, अनिल कुंबले, रिचर्ड हैडली, शेन वॉर्न और मुथैया मुरलीधरन ही अब अश्विन से ऊपर हैं.

IND v WI: अश्विन ने खोला ‘पंजा’, विंडीज की पहली पारी 150 रन पर ढेर, पहला दिन टीम इंडिया के नाम

इंडीज की पारी के दौरान अल्‍जारी जोसेफ के रूप में तीसरा विकेट लेते ही अश्विन ने इंटरनेशनल क्रिकेट में700 विकेट पूरे कर लिए. इंटरनेशनल क्रिकेट में अब उनके नाम 702 विकेट हैं जिसमें टेस्‍ट क्रिकेट मेंमें 479, 113 वनडे मैचों में 151 और 65 टी20I में 72 विकेट शामिल हैं.

ऑफ स्पिनर को बाएं हाथ के बल्‍लेबाजों के लिए बेहद घातक माना जाता है. WTC फाइनल की ऑस्‍ट्रेलियाई टीम में पर्याप्‍त संख्‍या में लेफ्ट हेंडर्स होने के चलते अश्विन को प्‍लेइंग XI में स्‍थान देने की दलील दी जा रही थी लेकिन उन्‍हें टीम में जगह नहीं मिली. इंडीज के खिलाफ मैच की पहली पारी में अश्विन ने जिन पांच बैटरों को शिकार बनाया उसमें से दो-तेगनारायण चंद्रपाल व एलिक एंथोज बाएं हाथ के बैटर हैं.

वेस्‍टइंडीज के तेगनारायण चंद्रपाल (Tagenarine Chanderpaul)को आउट करते ही अश्विन एक अलग तरह की उप‍लब्धि हासिल की. वे टेस्‍ट क्रिकेट के उन चंद गेंदबाजों में है जिन्‍होंने पिता और पुत्र को आउट किया है. अश्विन 2011 में तेगनारायण के पिता शिवनारायण चंद्रपाल को आउट कर चुके हैं. उनके अलावा इंग्‍लैंड के इयान बॉथम (लांस और क्रिस केर्न्‍स), पाकिस्‍तान के वसीम अकरम (लांस और क्रिस केर्न्‍स), ऑस्‍ट्रेलिया के मिचेल स्‍टॉर्क (शिवनारायण और तेगनारायण चंद्रपाल) और दक्षिण अफ्रीका के शिमोन हार्मर (शिवनारायण और तेगनारायणचंद्रपाल) ऐसा कर चुके हैं.

टेस्‍ट के पहले दिन अश्विन ने तेगनारायण को आउट करते हुए अश्विन करते ही सबसे अधिक बार विपक्षी बैटर को बोल्‍ड करने के अनिल कुंबले के रिकॉर्ड को तोड़ा. कुंबले ने अपने टेस्‍ट करियर में 94 बैट्समैन को बोल्‍ड किया था जबकि अश्विन अब 95 बार ऐसा कर चुके हैं. कपिल देव इस मामले में तीसरे स्‍थान (88) स्‍थान पर हैं.

टैग: भारत बनाम वेस्टइंडीज, आर अश्विन, रविचंद्रन अश्विन, यशस्वी जयसवाल

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *