एक्ट्रेस का दर्द! अजय देवगन के साथ किया था डेब्यू, अब उनकी ही मां बनने का मिलता है ऑफर

माया नगरी की माया वाकई अजीब है. इसकी चकाचौंध भरी दुनिया में कई ऐसे चेहरे हैं, जिनके पीछे समंदर की गहराई की तरह गहरे दर्द दबे हुए हैं. ये दर्द आम लोगों को दिखाई नहीं देते. लेकिन, इसी दर्द में चोटी की कई एक्ट्रेस समय से पहले ही लापता हो गईं. आज एक ऐसी ही एक्ट्रेस की कहानी, जिन्होंने सुपर स्टार अजय देवगन के साथ कभी इंडस्ट्री में डेब्यू किया था. लेकिन, आज वह इंडस्ट्री से आउट हैं. उन्हें उनकी पसंद का काम नहीं मिलता है. वह कहती हैं कि आज की तारीख में हालात ऐसे हैं कि जिस एक्टर के साथ उन्होंने डेब्यू किया था आज उसी की मां बनने का ऑफर दिया जाता है.

दरअसल, यह पूरी कहानी बॉलीवुड में अभिनेत्रियों के करियर की उम्र को लेकर है. यह उस एक्ट्रेस की पीड़ा की कहानी है जो कभी अपने दौर की सुपरस्टार हुआ करती थीं. उसने हिंदू, तमिल, तेलुगू, मलयालम और कन्नड़ फिल्मों में बेहतरीन काम किया. अपने दौर में वह चोटी की एक्ट्रेस में गिनी जाती थीं. आप इसी से अनुमान लगा सकते हैं कि यह एक्ट्रेस मशहूर अदाकारा हेमा मालिनी की भतीजी हैं. ईशा और अहाना दोओल इनकी चचेरी बहनें हैं.

अब आप इस सुपरस्टार को पहचाचने के बहुत करीब होंगे. खैर, चलिए हम बता ही देते हैं. आपको फूल और कांटे, रोजा, योद्धा जैसी फिल्में याद है ना… तो आप इन फिल्मों की एक्ट्रेस को नहीं भूले होंगे. इनका नाम है मधू. एक्ट्रेस मधू ने अजय देवगन के साथ फिल्म फूल और कांटे से बॉलीवुड में डेब्यू किया था. वह एक कमाल की अदाकारा रहीं. फिल्म रोजा के लिए उन्हें खूब याद किया जाता है. लेकिन, अब सोच रहे होंगे कि मधू को हम आज क्यों याद कर रहे हैं. दरअसल, मधू ही नहीं, बल्कि मधू जैसी तमाम एक्ट्रेस रही हैं जिन्हें बॉलीवुड समय से पहले ही भूल गया.

मधू ने हाल ही में ओटीटी प्लैटफॉर्म अमेजन के मैत्री (Maitri) कार्यक्रम में अपनी पीड़ा जाहिर की है. इस शो में मधू ने बताया है कि कैसे बॉलीवुड में उम्र बढ़ने के साथ अभिनेत्रियों के लिए संभावनाएं कम होने लगती हैं. वह खुद इसकी शिकार रही हैं. एक दौर में वह चोटी की अदाकार थीं. अपनी शर्तों पर काम करती थीं. लेकिन, समय बीतने के साथ उनके लिए माया नगरी में जगह कम पड़ती गई. मधू बताती हैं कि उनको नृत्य करना पसंद है. उन्होंने कई फिल्मों नृत्य किया है. लेकिन, फिल्म रोजा के वक्त उनका बॉलीवुड से मोह भंग होने लगा. फिर उन्होंने माया नगरी छोड़ने का फैसला किया. इस बारे में उन्होंने तमाम निर्देशकों को पत्र लिखा. फिर मुझे अहसास हुआ कि यह मेरी बचकाना हरकत थी.

कुछ समय बाद मुझे अपनी गलती का अहसास हुआ. मैंने सोचा कि मैं एक कलाकार हूं और मुझे यह काम करना चाहिए. फिर मैंने वापसी की. लेकिन, कुछ ऐसी घटनाएं घटी जिसके बाद मैंने फीमेल सेंट्रिक फिल्में करने का फैसला किया. लेकिन, कुछ ही समय में मैं इंडस्ट्री में अलग-थलग महसूस करने लगी. मुझे अहसास हुआ कि अब तो मुझे बड़े स्टार के साथ फिल्में ही नहीं मिल रही हैं.

वह आगे बताती हैं कि उम्र बढ़ने के साथ अभिनेत्रियों को फिल्में नहीं मिलतीं. लेकिन, यह देखकर अच्छा लगता है कि अजय देवगन की को-स्टार रहीं तब्बू आज भी फिल्म इंडस्ट्री में हैं. लेकिन, मेरे लिए ऐसा नहीं है. मुझे भूमिकाएं ऑफर नहीं होंगी, क्योंकि मैंने जिस अजय देवगन के साथ डेब्यू किया था उनकी मां भूमिका नहीं करना चाहूंगी.

टैग: अजय देवगन

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*