PUBG Love story: प्रेमी से मिलने भारत में घुसी पाकिस्तानी महिला ने अपनाया हिंदू धर्म, बच्चों के भी बदले नाम

नई दिल्ली. पब-जी से शुरू हुई भारतीय युवक और पाकिस्तानी महिला की प्रेम कहानी में अब नया ट्विस्ट सामने आया है. पाकिस्तानी महिला अवैध रूप से भारत आने के बाद कानूनी शिकंजे में है और इसी दौरान उसने दावा किया कि उसने हिंदू धर्म अपना लिया है. उसने हिंदू मान्यता के मुताबिक अपने बच्चों के नाम भी बदल दिए हैं.

पब जी से प्रेमजाल में उलझकर पाकिस्तान से भारत आई महिला सीमा हैदर ने कहा कि उन्होंने हिंदू धर्म अपना लिया है और सचिन को अपनाने के लिए अपना मुस्लिम सरनेम छोड़ दिया है. महिला ने यह भी दावा किया कि उसने अपने नए धर्म के अनुरूप अपने बच्चों के नाम बदल दिए. उन्होंने कहा, ‘सीमा हिंदुओं और मुसलमानों में एक आम नाम है और इसलिए सचिन ने कहा कि मुझे अपना पहला नाम बदलने की जरूरत नहीं है. मैं खुद को सीमा या सीमा सचिन कह सकती हूं. हमने अपने बच्चों का नाम बदलकर राज, प्रियंका, परी और मुन्नी रख दिया है.’

जमानत के बाद सचिन के साथ
हाल ही में जमानत पाने वाली महिला शनिवार को ग्रेटर नोएडा के रबूपुरा स्थित घर में अपने साथी सचिन मीणा के साथ मिल गई. सीमा हैदर, अब सीमा मीणा, को अवैध रूप से भारत में प्रवेश करने और वैध दस्तावेजों के बिना ग्रेटर नोएडा में रहने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने बताया कि एक स्थानीय अदालत ने मंगलवार को उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया और आदेश दिया कि उसके चार बच्चे जेल में मां के साथ रहेंगे.


अवैध रूप से नेपाल के जरिये आई भारत

पाकिस्तान के सिंध प्रांत के खैरपुर जिले की रहने वाली महिला ने पहले नेपाल की यात्रा की और फिर 13 मई को पब-जी पर मिले अपने प्रेमी से मिलने के लिए बिना वैध कागजात के भारत में प्रवेश किया. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, महिला ने कथित तौर पर अपनी यात्रा के लिए अपनी जमीन का एक टुकड़ा बेच दिया, जिसकी लागत लगभग 12 लाख रुपये थी.

पीएम मोदी और सीएम योगी से भारतीय नागरिकता का अनुरोध
सचिन मीणा ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बात करते हुए कहा कि उनके परिवार ने सीमा को उसके बच्चों के साथ स्वीकार कर लिया. शख्स ने पीएम मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से अपनी पत्नी को भारतीय नागरिकता देने का भी आग्रह किया.

टैग: भारतीय पाकिस्तान, प्रेम कहानी, नई दिल्ली खबर, पबजी गेम

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*