अगर 1 महीने तक नमक न खाएं तो बॉडी में दिखेंगे ये हैरतअंगेज असर, भूलकर भी न करें ये गलती, मौत भी आ सकती है करीब!

हाइलाइट्स

एक महीने तक नमक नहीं खाने से सबसे पहले शरीर में पानी नहीं टिकेगा.
डब्ल्यूएचओ के मुताबिक हमें रोजाना 5 ग्राम नमक खाना चाहिए.

जब आप नमक छोड़ देते हैं तो शरीर में क्या होता है: यूं तो हर तरह के मिनरिल्स की हमारे शरीर में विशेष भूमिका है लेकिन नमक के बिना हम जिंदगी की कल्पना भी नहीं कर सकते. अगर किसी सब्जी या किसी अन्य खाने की चीजों में नमक कम पड़ जाए तो कुछ भी स्वाद नहीं लगता. इसी तरह शरीर भी बिना नमक के नहीं रह सकता. यह और बात है कि ज्यादा नमक खाने से कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं. इसमें सबसे पहले हाइपरटेंशन या बीपी की समस्या बढ़ती है जिससे हार्ट डिजीज और स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है. वहीं ज्यादा नमक किडनी को डैमेज और किडनी में पत्थर भर सकता है. हाई सॉल्ट डाइट स्टोमेक कैंसर भी दे सकता है.

शरीर में पानी नहीं टिकेगा
इन सबके बावजूद अगर कोई सोचता है कि वह एक महीने तक नमक नहीं खाकर शरीर को ज्यादा हेल्दी बना लेंगे तो यह बेवकूफी के अलावा और कुछ नहीं है. अगर कोई एक महीने तक पूरी तरह से नमक न खाएं तो शरीर पर कई नकारात्मक असर पड़ सकते हैं. इंडियन एक्सप्रेस ने डायटीशियन श्वेता बोस के हवाले से बताया है कि अगर आप एक महीने तक पूरी तरह से नमक खाना छोड़ देता है तो शरीर में कई तरह के बदलाव देखने को मिलेंगे. सबसे पहले शरीर में पानी नहीं टिकेगा. नमक या सोडियम पानी को बांधकर रखता है. चूंकि हमारा शरीर का अधिकांश हिस्सा पानी से ही बना रहता है इसलिए पानी अगर हमारे शरीर में कम हो जाए, तो इसका क्या असर होगा, यह समझा जा सकता है.

कोमा में भी पहुंच सकते हैं
इसके साथ ही अगर एक महीने तक नमक न खाया जाए तो ब्लड प्रेशर एकदम लो होना शुरू हो जाएगा. समय के साथ, जीभ का टेस्ट बड्स बारीक स्वाद के प्रति अति संवेदनशील हो जाएगा जिससे किसी भी चीज का स्वाद आपको फीका और अलग तरह का लगेगा. श्वेता बोस ने बताया कि पूरी तरह से नमक को छोड़ने के बाद शरीर में इलेक्ट्रोलाइट का असंतुलन होने लगेगा. इससे मसल्स का फंक्शन काम करना बंद हो जाएगा. नर्व में किसी तरह का संचार होना बंद हो जाएगा. इससे जी मितलाना, उल्टी, चक्कर और शरीर में डिहाइड्रेशन जैसी समस्याएं शुरू हो जाएगी. इसलिए कभी भी पूरी तरह से नमक न खाने के बारे में सोचिए ही नहीं. अगर पूरी तरह से एक महीने तक नमक न खाने की गलती करेंगे तो कोमा में भी पहुंच सकते हैं और इससे अचानक मौत भी हो सकती है. इसलिए यह जरूरी है कि आप रोजाना नमक सीमित मात्रा में नमक खाएं.

कितना खाना चाहिए नमक
डब्ल्यूएचओ के मुताबिक हमें रोजाना 5 ग्राम नमक खाना चाहिए. इससे ज्यादा खाने पर शरीर को कई तरह की परेशानियां हो सकती हैं और इससे कम खाने पर उससे भी अधिक परेशानियां हो सकती हैं. अगर किसी लिवर और हार्ट संबंधित परेशानी हैं तो ऐसे व्यक्ति को इससे भी कम नमक खाने की सलाह दी जाती है. हालांकि यह डॉक्टर तय करेगा कि आपको कितने नमक की हर रोज जरूरत होती है. वैसे सामान्य हेल्दी वयस्क के लिए एक दिन में एक चम्मच नमक खाना चाहिए.

इसे भी पढ़ें-Sacrcopenia: धीरे-धीरे मांसपेशियों से ताकत हो रही है गायब, स्टेमिना भी दे रहा है जवाब, जर्जर हो रहे मसल्स में ऐसे लाएं नई जान

इसे भी पढ़ें-रोटी में घी लगाने से क्या घट जाता है मोटापा? किस तरह करता है शरीर पर असर, डॉक्टर ने बताई असली बात

टैग: स्वास्थ्य, स्वास्थ्य सुझाव, जीवन शैली

(टैग अनुवाद करने के लिए)नमक और स्वास्थ्य परिणाम(टी)अत्यधिक नमक का सेवन और स्वास्थ्य जोखिम(टी)उच्च रक्तचाप और नमक का सेवन(टी)नमक का सेवन और गुर्दे की क्षति(टी)उच्च नमक आहार और पेट के कैंसर का खतरा(टी)नमक और ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा (टी)आहार से नमक को खत्म करना(टी)एक महीने के लिए नमक छोड़ने के स्वास्थ्य परिणाम(टी)शरीर में सोडियम और आवश्यकता(टी)नमक की कमी के कारण इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन(टी)शरीर में कम सोडियम स्तर के प्रभाव( टी)नमक का सेवन और रक्तचाप कम करना(टी)अनुशंसित नमक का सेवन(टी)नमक के स्वस्थ विकल्प(टी)नमक की खपत में संतुलन बनाना(टी)हाइपोनेट्रेमिया और एथलीटों(टी)नमक के साथ हृदय और मांसपेशियों का इष्टतम कार्य(टी)उपयोग नमक की जगह जड़ी-बूटियाँ और मसाले

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*