Podcast: अगरकर बने सीनियर सेलेक्शन कमेटी के चेयरमैन, सीनियर्स की बजाय यंग ब्रिगेड पर किया भरोसा

प्ताह भर की क्रिकेट गतिविधियों पर आधारित इस पॉडकास्ट के साथ मै हाजिर हूँ, संजय बैनर्जी का नमस्कार- सुनो दिल से. ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच एशेज दिलचस्प दौर मे पहुँच रही है. पहले दो टेस्ट जीतकर ऑस्ट्रेलिया मजबूत स्थिति में है. यही नहीं, तीसरे टेस्ट का पहला दिन भी उसी के हक मे झुका दिखता है. 63 के स्कोर पर इंग्लैंड अपने शुरुआती 3 विकेट गंवा चुका है,

लेकिन गनीमत है कि रूट और बेयस्टो अभी क्रीज़ पर हैं और स्टोक्स का खेलना बाकी है. हालांकि, ऑस्ट्रेलिया के लिए भी मार्श की पारी को माइनस कर दें, तो बल्ले से कुछ खास नहीं निकला है. तीसरे टेस्ट में गेंदबाज हावी हैं. इंग्लैंड के पास अब भी वापसी का बेहतरीन मौका है, और इस टेस्ट मेें हार उसके हाथ से सीरीज को दूर कर देगी.

उधर, वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में भारतीय टीम अपने अभियान की शुरुआत वेस्टइंडीज के खिलाफ 12 जुलाई से डोमिनिका में करने वाली है. लगातार दो दफा फाइनल मे हारने वाली भारतीय टीम के लिए तीसरी बार आसान शुरुआत है, लेकिन मसला आगाज का नहीं अंजाम का है. वेस्टइंडीज की टीम दोहरी मार से परेशान है. उसे अक्टूबर मे भारत में होने वाले विश्व कप में खेलने का टिकट नहीं मिला है.

48 साल के विश्व कप इतिहास में वेस्टइंडीज ने शुरुआत के दोनों खिताब जीते थे, लेकिन अब हालात यह है कि वह क्वालीफाई भी नहीं कर पाया है. ऐसे मे विपक्ष के तौर पर भारत उसके लिए निश्चित तौर पर भारी पड़ने वाला है.

टीम इंडिया इन दिनों वेस्टइंडीज में अभ्यास में जुटी है और उधर मेजबान टीम के कुछ खिलाड़ी अभी भी जिम्बाब्वे में विश्व कप क्वालीफायर्स खेलने में व्यस्त हैं. कप्तान क्रेग ब्रेथवेट के लिए टीम को भारत के खिलाफ मानसिक मजबूती के साथ मैदान मे उतारना एक बड़ी चुनौती है. क्वालीफायर्स में खेलने वाले दो तेज गेंदबाजों अल्जारी जोसेफ और जैसन होल्डर को दो मैच बाकी रहते ही स्वेदश बुला लिया गया.

वेस्टइंडीज की टीम आज क्वालीफायर्स का अपना अंतिम सुपर सिक्स मैच श्रीलंका से खेल रही है. ऐसे में इस टीम के कुछ अन्य खिलाड़ियों को नेट ज्वाइन करने के लिए नाम मात्र का समय मिल सकेगा.

इस सीरीज मे भारत के लिए कुछ खिलाड़ियों को टेस्ट डेब्यू का मौका मिल सकता है. भविष्य में शुभमन गिल, यशस्वी जायसवाल, रुतुराज गायकवाड, ईशान किशन और भरत श्रीकर जैसे बल्लेबाज और मुकेश कुमार जैसे गेंदबाज भारतीय टीम की रीढ़ हो सकते हैं. रोहित शर्मा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, अश्विन और जडेजा की मौजूदगी मे इन खिलाड़ियों को अपनी मजबूत पहचान बनाने का यह बेहतरीन मौका है.

दो टेस्ट के बाद दोनों देशो के बीच तीन वनडे और पांच टी-20 मैच भी खेले जाएँगे. वेस्टइंडीज का अतीत इतना समृद्ध रहा है कि अब भी आंकड़ों मे पलड़ा उसी का भारी है. दोनों के बीच 98 मुकाबलो में भारत ने 22 और वेस्टइंडीज ने 30 मैच जीते हैं. मेहमान भारत ने पिछली सीरीज 2019 में खेली थी और दोनों टेस्ट जीते थे. वेस्टइंडीज ने पिछली तीन टेस्ट सीरीज विदेश में खेली है जिसमें उनका प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा.

लेकिन, अपनी जमीन पर वेस्टइंडीज ने पिछली दोनों सीरीज बांग्लादेश और इंग्लैंड के खिलाफ जीती थी, ऐसे में इस सीरीज को वाक ओवर मान कर चलना ठीक नही होगा.

इस बीच, अजीत अगरकर सीनियर सेलेक्शन कमेटी के चेयरमैन बना दिये गये हैं. उनको पहली टीम चुनने का मौका वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच मैचों की टी-20 सीरीज के लिए मिला, जिसमें उन्होंने सीनियर्स की बजाय यंग ब्रिगेड पर भरोसा किया. रोहित और विराट जैसे प्लेयर्स को रेस्ट दिया गया है. ईशान किशन, शुभमन गिल, यशस्वी जयसवाल, तिलक वर्मा, रवि बिश्नोई, आवेश खान और मुकेश कुमार को शामिल कर यह बताने की कोशिश की गई है कि अब सबसे छोटे फॉर्मेट में इन्हीं के दिन आने वाले हैं.

हार्दिक पांडया कैप्टन बने रहेंगे. चयन समिति में अगरकर के साथ सलील अंकोला, सुब्रत बनर्जी, शिव सुंदर दास और एस शरत हैं, जिन्होंने पहले ही वेस्टइंडीज दौरे के लिए टेस्ट और वनडे टीम चयन कर लिया था. अगरकर के नाम आज भी वनडे में भारत के सबसे तेज अर्द्धशतक का रिकॉर्ड है. उनको लॉर्ड्स टेस्ट में शतक जमाने का गौरव भी हासिल है. उम्मीद की जानी चाहिये कि अजीत अगरकर की अगुआई में चयन समिति भविष्य में बेहतर और तर्कसंगत चयन करेगी.

उधर, भारत ए टीम कोलंबो में 13 से 23 जुलाई तक आठ देशों की इमर्जिंग एशिया में हिस्सा लेगी. इस टीम का कप्तान यश धुल को बनाया गया, जिनके नेतृत्व में भारत अंडर-19 वर्ल्ड कप जीत चुका है. हाल ही भारत की महिला ए टीम ने इमर्जिंग एशिया कप का खिताब जीत चुकी हैं. पंजाब के अभिषेक शर्मा टीम के उपकप्तान बनाये गये हैं. इसमें प्रभसिमरन सिंह, ध्रुव जुरेल और रियान पराग जैसे खिलाड़ियों को भी जगह दी गयी है.

नेपाल को छोड़कर बाकी देश इसमें अपनी ए टीम ही भेज रही है. भारत को नेपाल, यूएई और पाकिस्तान के साथ ग्रुप बी में रखा गया है जबकि ग्रुप ए में श्रीलंका, बांग्लादेश, अफगानिस्तान और ओमान शामिल हैं. दोनों ग्रुप से दो-दो टीमें 21 जुलाई को सेमीफाइनल खेलेगी, फाइनल 23 जुलाई को खेला जाएगा. भारत का पहला मैच यूएई से 13 को दूसरा पाकिस्तान से 15 को और तीसरा नेपाल से 17 जुलाई को होगा.

भारत में अक्टूबर-नवम्बर में होने वाला वनडे वर्ल्ड कप में लगभग साढ़े तीन महीने से भी कम वक्त बाकी है, लेकिन अभी भी पाकिस्तान को लेकर बहुत कुछ साफ नहीं है. सुरक्षा के नजरिये से पाकिस्तान ने अपने मैच स्थलों का जायजा लेने के लिए प्रतिनिधिमंडल भेजने का फैसला किया है. फिर भी अंतिम फैसला पाकिस्तान सरकार करेगी.

इस बीच, जिन राज्यों को विश्व कप के मैच नहीं मिले हैं, वहां बोर्ड ने द्विपक्षीय सीरीज के मैच देने का मन बनाया है. कई राज्य अपने यहां विश्व कप का मैच नहीं मिलने से नाराज थे, लेकिन अब इनकी शिकायतों को दूर करने के लिए बीसीसीआई ने नया फॉर्मूला निकाल लिया है.

उधर, जिम्बाब्वे में विश्व कप क्वालीफायर्स के दौरान काफी उलटफेर देखने को मिले. वेस्टइंडीज और जिम्बाब्वे को अंतिम रूप से विश्व कप में खेलने का टिकट नहीं मिला. दोनों को स्कॉटलैंड से हारने के बाद ही विश्व कप की होड़ से बाहर हो जाना पड़ा. दूसरी ओर श्रीलंका और नीदरलैंड ने विश्व कप के लिए क्वालीफाई कर लिया है.

भारत में होने वाले विश्व कप में कुल दस देशों को भाग लेना है, जिसके लिए पहले ही आठ टीमों ने खेलने की पात्रता हासिल कर ली थी. बाकी दो टीमों के लिए यह क्वालीफायर्स आयोजित किया गया है. यह पहला मौका होगा जब वेस्टइंडीज की टीम वनडे विश्व कप में नहीं खेलेगी. यहां यह दिलचस्प है कि अगला टी-20 वर्ल्ड कप वेस्टइंडीज में ही अगले साल खेला जाना है.

इस बीच भारत की महिला टीम बांग्लादेश के खिलाफ तीन टी-20 और तीन वनडे मैचों की सीरीज खेलने के लिए तैयार है. हरमनप्रीत कौर की कप्तानी वाली टीम मीरपुर में रविवार से तीन टी-20 मैच खेलेगी. इसके बाद तीन वनडे मैच खेले जाने हैं. 18 सदस्यीय भारतीय टीम में अनुभवी रिचा घोष, रेणुका सिंह, राजेश्वरी गायकवाड और स्नेह राणा के नाम शामिल नही हैं.

असम की उमा छेत्री, मिन्नु मणि, आन्ध्र प्रदेश की अनुषा और राशि कनौजिया को पहली बार बुलाया गया है. प्रिया पुनिया और मोनिका पटेल की वापसी हुई है. आस्ट्रेलिया में टी-20 विश्व कप खेलने के बाद पहली बार भारतीय टीम को कोई सीरीज खेलने का मौका मिल रहा है.

और अंत में दलीप ट्रॉफी.
दोनों सेमीफाइनल मैचों का आज तीसरा दिन है. बेंगलुरु में नॉर्थ जोन की पहली पारी 198 रन पर सिमट गई, जिसके जवाब में साउथ जोन मयंक अग्रवाल के 76 और तिलक वर्मा के 46 रन के बावजूद तीन रन से पीछे रह गई. दूसरी पारी में नॉर्थ जोन ने कल दो विकेट पर 51 रन बनाए थे.

आलुर में भी कम स्कोर वाला एक अन्य मुकाबला चल रहा है. वेस्ट जोन ने पहली पारी में 220 रन और दूसरी पारी में तीन विकेट पर 149 रन बनाए थे. इंडियन टीम से बाहर रहने वाले चेतेश्वर पुजारा पहली पारी में खराब खेल के बाद अब दूसरी पारी में अर्धशतक बना चुके हैं.

साथ ही सूर्यकुमार यादव भी हाफ सेंचुरी जड़ चुके हैं. सेंट्रल जोन के कप्तान शिवम मावी ने पहली पारी में छह विकेट हासिल किए. हालांकि सेंट्रल जोन पहली पारी में 128 रन बनाने के कारण मैच में संघर्ष कर रही है.

इससे पहले क्वार्टर फाइनल में सेंट्रल जोन ने ईस्ट जोन को 170 रन से और नॉर्थ जोन ने नॉर्थईस्ट जोन को 511 रन से शिकस्त दी थी. तो यह था, सप्ताह भर की क्रिकेट गतिविधियों पर आधारित हमारा पॉडकास्ट- सुनो दिल से. अगले हफ्ते फिर मिलेंगे, संजय बैनर्जी को अनुमति दीजिए, नमस्कार.

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*