Home Bollywood न शाहरुख-सलमान और न ही कोई बड़ा स्टार, 60 लाख में बनी,...

न शाहरुख-सलमान और न ही कोई बड़ा स्टार, 60 लाख में बनी, 18 करोड़ से ज्यादा की कमाई, 2007 की साबित हुई बड़ी हिट

52
0
Advertisement

नई दिल्ली. फिल्म इंडस्ट्री में किसी ब्लॉकबस्टर फिल्म को बनाने के लिए उस पर तगड़ा बजट ही लगाना बेहद जरूरी है. ये कतई सच नहीं है. कहानी और कलाकार अच्छे हों तो छोटे बजट की फिल्में भी बॉक्स ऑफिस पर धमाका कर सकती है. ऐसा ही एक उदाहरण है साल 2007 में रिलीज हुई फिल्म ‘भेजा फ्राई’. सिर्फ 60 लाख के बजट में बनी इस फिल्म से मेकर्स ने थीबॉक्स ऑफिस पर 18 करोड़ से ज्यादा की कमाई की थी.

सागर बलारी द्वारा निर्देशित और सुनील दोशी द्वारा निर्मित इस फिल्म में रजत कपूर , विनय पाठक , सारिका , मिलिंद सोमन और रणवीर शौरी अहम भूमिका में नजर आए थे. फिल्म 13 अप्रैल 2007 को रिलीज़ हुई थी. समीक्षकों ने भी इस फिल्म की खूब सराहना की थी. हालांकि छोटे बजट में बनी यह फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर सफलता के झंडे गाड़ दिए थे. यह फिल्म फ्रांसीसी फिल्म 1998 ले डायनेर डी कॉन्स पर आधारित थी जिसे बाद में 2010 की हॉलीवुड फिल्म डिनर फॉर श्मक्स में रूपांतरित किया गया था. यह भेजा फ्राई की पहली किस्त फिल्म है.

Kailash Kher B’day: ऋषिकेश के जंगल में मिली राह, दिल्ली में खाए धक्के, जिंगल्स से चमकी थी कैलाश खेर की किस्मत

60 लाख में बनी और कमाए 18 करोड़
साल 2007 में आई फिल्म ‘भेजा फ्राई’ ने अपने कम बजट के बावजूद बॉक्स ऑफिस चौंकान वाला कलेक्शन किया था. हालांकि इस फिल्म की सफलता के बाद ये साबति हो गया था कि जरूरी नहीं किसी फिल्म को सुपरहिट बनाने के लिए उस करोड़ों का बजट लगाए जाए. अगर फिल्म की कहानी और कलाकार अच्छे हों स्टारकास्ट ने अपने किरदारों के साथ पूरी तरह न्याय किया हो तो कम बजट की फिल्में भी बॉक्स ऑफिस पर धमाका करने की क्षमता रखती हैं. फिल्म ‘भेजा फ्राई’ इसका सबसे बड़ा उदाहरण है. महज 60 लाख में बनी फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर 18 करोड़ से ज्यादा की कमाई कर मेकर्स को मालामाल कर दिया था.

Advertisement

भेजा फ्राई 2 ने भी जीता दर्शकों का दिल
भेजा फ्राई 2 के पहले पार्ट ने दर्शकों का दिल जीत लिया था. फिल्म में कई ऐसे किरदार थे जिन्होंने लोगों को खूब हंसाया. फिल्म भेजा फ्राई 2 को भी दर्शकों का भरपूर प्यार मिला. सभी किरदारों ने अपनी परफॉर्मेंस से सबका दिल जीता. लेकिन फिर भी फिल्म पहले पार्ट से उन्नीस ही रही. विनय पाठक और के के मेनन के बीच अच्छी केमिस्ट्री लोगों का ठीक पहले पार्ट की तरह ही एंटरटेन करती है. फिल्म के पहले पार्ट की तरह दूसरे पार्ट ने भी ठीक ठाक कलेक्शन किया था.

बता दें कि बेहद कम बजट में बनी इन फिल्मों में कोई बड़ा स्टार नहीं था, बावजूद इसके फिल्म ने शानदार प्रदर्शन किया था. साथ ही फिल्म ने पानी की तरह पैसा बहाने वाले मेकर्स को ये संदेश भी दिया कि अच्छी फिल्में बनाने के लिए तगड़े बजट की जरूरत नहीं होती.

टैग: बॉलीवुड नेवस, मनोरंजन विशेष

Source link

Previous articleबांग्लादेश टूर के लिए नहीं हुआ चयन तो रोने लगी टीम इंडिया की स्टार गेंदबाज, कहा- ‘मेहनत करने के बाद भी…’
Next articleVIDEO: फलकनुमा एक्सप्रेस में तेलंगाना में लगी भीषण आग, तीन बोगियां खाक, सभी यात्री सुरक्षित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here