Kailash Kher B’day: ऋषिकेश के जंगल में मिली राह, दिल्ली में खाए धक्के, जिंगल्स से चमकी थी कैलाश खेर की किस्मत

04

कैलाश खेर कभी ऋषिकेश के आश्रमों में भी रहे हैं. गंगा के घाट पर वह रोजाना आरती के समय अपनी आवाज में गाना गुनगुनाते थे, जिसे सुनकर वहां मौजूद साधु-संत भी झूमने लगते थे. एक दिन एक साधू ने सिंगर की आवाज सुनकर कहा तुम्हारी आवाज में जादू है, तुम इतने परेशान मत हो. भोलेनाथ सब ठीक करेंगे. महंत की बात सुनकर उन्होंने आगे बढ़ने का फैसला किया और ऋषिकेश से दिल्ली आ गए. यहां कुछ म्यूजिक टेक्नीशियन के साथ बातचीत हुई टेक्नीशियन उनके लिए म्यूजिक तैयार करें, लेकिन यहां भी सफलता नहीं मिली. इसके बाद उन्होंने एक्सपोर्ट का काम भी किया. कैलाश हैंडक्राफ्टेड सामान दिल्ली से जर्मनी भेजा करते थे. (फोटो साभार: Instagram@kailashkher)

(टैग्सटूट्रांसलेट)कैलाश खेर(टी)कैलाश खेर जन्मदिन(टी)कैलाश खेर बर्थडे स्पेशल(टी)कैलाश खेर उम्र(टी)कैलाश खेर गाना(टी)कैलाश खेर पत्नी(टी)कैलाश खेर पहला गाना(टी)कैलाश खेर पत्नी उम्र (टी)कैलाश खेर ऊंचाई(टी)कैलाश खेर पिता(टी)कैलाश खेर पुरस्कार(टी)कैलाश खेर भाई(टी)कैलाश खेर नेट वर्थ(टी)कैलाश खेर कार कलेक्शन(टी)कैलाश खेर शिक्षा(टी)गायक कैलाश खेर जन्मदिन विशेष(टी)कैलाश खेर गायक(टी)कैलाश खेर संगीतकार(टी)कैलाश खेर जन्मदिन मुबारक हो(टी)कैलाश खेर सूफी गायक(टी)कैलाश खेर संघर्ष(टी)कैलाश खेर सफलता(टी)कैलाश खेर लोकप्रिय गीत(टी) )कैलाश खेर का हिट गाना(टी)कैलाश खेर का करियर(टी)कैलाश खेर का संघर्ष(टी)कैलाश खेर की उम्र(टी)कैलाश खेर का सूफी गाना(टी)कैलाश खेर का सफर

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*