बारिश में ब्लड प्लेटलेट्स को लेकर क्यों रहना चाहिए सतर्क, क्यों होती इसकी कमी, क्या है बढ़ाने के उपाय, जानें

हाइलाइट्स

ब्लड प्लेटलेट्स को बढ़ाने के लिए कई तरह के विटामिन और मिनिरल्स की जरूरत होती है.
एक वयस्क इंसान के खून में प्रति माइक्रोलीटर 1.5 लाख से 4 लाख तक प्लेटलेट्स होते हैं.

ब्लड प्लेटलेट काउंट को प्राकृतिक रूप से कैसे बढ़ाएं: जैसे ही बारिश का मौसम आता है शहरों में डेंगू का प्रकोप बढ़ जाता है. हम सब जानते हैं कि डेंगू में खून में प्लेटलेट्स की भारी कमी हो जाती है. सामान्यतया एक वयस्क इंसान के खून में प्रति माइक्रोलीटर 1.5 लाख से 4 लाख तक प्लेटलेट्स होते हैं. लेकिन डेंगू के मामले में 50 हजार से भी नीचे आ जाते हैं. ऐसी स्थिति में जिसका पहले से प्लेटलेट्स कम है, उसे डेंगू की स्थिति में बहुत ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. इसलिए शरीर में हर हाल में हमेशा प्लेटलेट्स की पर्याप्त संख्या होनी चाहिए.

अगर प्लेटलेट्स की संख्या पर्याप्त नहीं होगी तो कहीं अगर स्किन कट जाए या घाव हो जाए तो खून का थक्का बनने में मुश्किल होगा. प्लेटलेट्स एक तरह से ब्लड सेल्स को छोटा टुकड़ा होता है. जब भी हमारे शरीर में कहीं कट-फट या इंज्यूरी होती है और वहां से जैसे ही खून निकलने लगता है, प्लेटलेट्स वहां एक जाल बनाने लगते हैं और इससे खून का थक्का बन जाता है जिसके बाद खून का शरीर से निकलना बंद हो जाता है. प्लेटलेट्स का कम होना भी खतरनाक है और ज्यादा होना भी खतरनाक है. इसके अलावा कई अन्य परेशानियां होती रहेंगी.

खून में प्लेटलेट्स की कमी के संकेत

अगर खून में प्लेटलेट्स की कमी हो जाए तो कई संकेत पहले ही दिखने लगते हैं. ऐसे में कोई भी पहले से पता लगा सकता है. अगर लक्षण जानकर आप प्लेटलेट्स की कमी को पूरा कर लेंगे तो डेंगू अगर हो भी जाएं तो प्लेटलेट्स की बहुत ज्यादा कमी नहीं होगी. प्लेटलेट्स की कमी पर ये दिखते हैं ये संकेत-
1. थोड़ा सा भी घिसने पर स्किन से खून निकलने लगता है.
2.स्किन पर रेशेज दिखने लगते हैं जिसे हल्का सा लगाने पर खून निकलने लगता है.
3.स्किन में कट जाए तो बहुत देर तक खून निकलते रहता है.
4.दांतों के मसूड़ों और नाक से खून का निकलना.
5.यूरिन और स्टूल से खून निकलना.
6.पीरियड में बहुत ज्यादा ब्लीडिंग होना.
7.बहुत ज्यादा थकान.
8. स्प्लीन बहुत बड़ा हो जाना.

क्या है प्लेटलेट्स बढ़ाने के उपाय
हेल्थलाइन की खबर के मुताबिक ब्लड प्लेटलेट्स को बढ़ाने के लिए कई तरह के विटामिन और मिनिरल्स की जरूरत होती है. इनमें विटामिन बी 12 की महत्वपूर्ण भूमिका है. विटामिन बी के लिए अंडा, मटन, डेयरी प्रोडक्ट्स, गाय का दूध, हरी सब्जियां आदि की जरूरत होती है. इसके साथ ही फॉलेट, आयरन, विटामिन सी की भी जरूरत होती है. फॉलिक एसिड के लिए मूंगफली, हरी मटर, राजमा, संतरे, संतरे के जूस का सेवन करना चाहिए. वहीं आयरन के लिए पालक, हरी सब्जियां, पंपकिन सीड्स, मसूर की दाल आदि खाना चाहिए. विटामिन सी के लिए साइट्रस फ्रूट नींबू, संतरे, फूलगोभी, अन्नानास, शिमला मिर्च, टमाटर आदि का सेवन करना चाहिए. वहीं एक अध्ययन में यह भी पाया गया कि पपीता के पत्ते चबाने से भी ब्लड प्लेटलेट्स काउंट तेजी से बढ़ जाता है.

इसे भी पढ़ें: दांतों को क्रिस्टल की तरह चमकाना है तो महंगे प्रोडक्ट की जरूरत नहीं, 3 हर्बल चीजों का करें इस्तेमाल, सारी बीमारियां जाएंगी भाग

इसे भी पढ़ें:रोटी में घी लगाने से क्या घट जाता है मोटापा? किस तरह करता है शरीर पर असर, डॉक्टर ने बताई असली बात

टैग: स्वास्थ्य, स्वास्थ्य सुझाव, जीवन शैली

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*