पुतिन के खिलाफ खत्म हुआ विद्रोह? वैगनर प्रमुख लौटे रूस, क्या किसी समझौते की है उम्मीद, जानें

मास्को. बेलारूस के राष्ट्रपति अलेक्सांद्र लुकाशेंको ने दावा किया है कि रूस के प्राइवेट सैनिक वैगनर ग्रुप के प्रमुख येवगेनी प्रिगोझिन सेंट पीटर्सबर्ग में हैं. अलेक्सांद्र लुकाशेंको ने कहा कि ये समूह उसी जगह रुके हुए हैं, जहां वे असफल विद्रोह के समय रुके हुए थे. वहीं, बेलारूस के राष्ट्रपति ने वैगनर समूह को उनके देश में घुसने के लिए रूस के खिलाफ विद्रोह खत्म करने का सौदा किया था.

वहीं, पिछले हफ्ते अलेक्सांद्र लुकाशेंको ने दावा किया था कि वैगनर समूह बेलारूस में है. लेकिन अब उनका कहना है कि मर्सिनरी समूह अब रूस में है. उन्होंने इस बात का खुलासा अंतरराष्ट्रीय मीडिया से बात करते हुए किया. हालांकि उन्होंने वैगनर समूह के शिविर के बारे में नहीं बताया. वैगनर समूह वहीं ग्रुप है जो यूक्रेन के खिलाफ रूस की ओर युद्ध लड़ा था.

वैगनर समूह ने रूस के खिलाफ विद्रोह करते समय दक्षिणी रूसी शहर रोस्तोव-ऑन-डॉन पर कब्ज़ा कर लिया और रूसी राजधानी पर मार्च करने से पहले वहां सैन्य मुख्यालय पर कब्जा कर लिया. उन्होंने रूसी रक्षा मंत्री और जनरल स्टाफ प्रमुख को हटाने के लिए “न्याय का मार्च” बताया था. वहीं, वैगनर समूह के प्रमुख प्रिगोझिन ने दावा किया कि, ‘उनके सैनिक मॉस्को के 200 किलोमीटर (124 मील) के भीतर आ गए थे.’ उन्होंने बताया कि लुकाशेंको के साथ समझौते के तहत सैनिकों को आगे बढ़ने से रोकने का आदेश दे दिया था.

ये भी पढ़ें- PHOTOS: नीचे ट्रेन ऊपर शॉपिंग मॉल, गोरखपुर रेलवे स्टेशन का होगा कायाकल्प, PM मोदी करेंगे शिलान्यास

वहीं, वैगनर समूह का ये विद्रोह दो दशक से रूस के सत्ता में रहे राष्ट्रपति पुतिन के लिए खतरा बन गया था. कहा जा रहा है कि इस विद्रोह ने रूस अधिकृत क्रेमलिन की कमजोरी को उजागर कर दिया था. रूसी मीडिया से मिले सूत्रों ने बताया कि रूस के दूसरे सबसे बड़े शहर सेंट पीट्सबर्ग में प्रिगोझिन की उपस्थिति किसी महत्वपूर्ण समझौते का हिस्सा है.

टैग: रूस, रूस समाचार, वैगनर समूह

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*