टैक्सी ड्राइवर का बेटा है बिहार का लाल, पार्ले-जी के लिए लगाया था पहली बार जी जान, अब इंडिया में टेस्ट के बाद टी20 में बनाई जगह

03

मुकेश के दोस्तों के अनुसार बचपन से ही उनका पढ़ाई-लिखाई में ज्यादा मन नहीं लगता था, बल्कि खेल के प्रति उनका ज्यादा रुझान रहता था. यहां भी वह क्रिकेट में कुछ ज्यादा ही दिलचस्पी लेते थे. (Mukesh Kumar/Instagram)

(टैग्सटूट्रांसलेट)मुकेश कुमार(टी)मुकेश कुमार के पिता एक टैक्सी ड्राइवर थे(टी)पार्ले जी(टी)भारतीय टीम(टी)भारत बनाम वेस्टइंडीज(टी)भारत(टी)वेस्टइंडीज(टी)IND बनाम WI(टी) IND

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*