आदिपुरुष के ‘हनुमान’ पर भड़के बिंदू दारा सिंह, बोले- ये फिल्म भी नकली है और इसका कलेक्शन भी

नई दिल्ली. ‘आदिपुरुष’ साल की वो दूसरी फिल्म जिसको लेकर खूब हंगामा हुआ और हंगामा ऐसा हुआ फिल्म के थिएटर्स से बाहर होने के बाद भी लोग फिल्म के कलाकारों और मेकर्स को खूब खरीखोटी सुना रहे हैं. ‘आदिपुरुष’ पर अब बिंदु दारा सिंह का रिएक्शन सामने आया है. फिल्म को देखने के बाद वह गुस्से से लाल हो गए. उन्होंने कहा फिल्म को देखकर लगता है कि 500 करोड़ में मेकर्स ‘मार्वल्स’ जैसी कोई फिल्म बनाने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन वो इसमें पूरी तरह फेल हो गए. रामानंद सागर की रामायण से तुलना करते हुए एक्टर ने कहा कि उन किरदारों को आज भी लोग भूल नहीं पाए हैं.

रामानंद सागर की रामायण से बिंदु दारा सिंह के पिता हनुमान का किरदार निभा चुके हैं. वह खुद भी एक सीरियल में इस रोल में नजर आए थे. लेकिन ‘आदिपुरुष’ के हनुमान यानी देवदत्त नागे को देख वह भड़क गए. उन्होंने दो टूक कह डाला कि ये फिल्म भी नकली है और इसका कलेक्शन भी…

‘एक्सपेरिमेंट में मेकर्स बुरी तरह से फेल हुए’
बिंदु दारा सिंह ने हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान ‘आदिपुरुष’ के लेकर अपनी नाराजगी जाहिर की. उन्होंने कहा कि शायद मेकर्स यूथ को टारगेट में रखकर यह फिल्म बना रहे थे, जो थॉर या मार्वल देखते होंगे लेकिन अपने इस एक्सपेरिमेंट में वो बुरी तरह से फेल हुए.

‘आदिपुरुष’ के हनुमान को तो ठीक से हिंदी नहीं आती
बिंदु दारा सिंह और उनके पिता दारा सिंह दोनों हनुमान का किरदार निभा चुके हैं. दोनों को जनता का खूब प्यार भी मिला था. लेकिन फिल्म के हनुमान को देख उनका गुस्सा और भी बढ़ गया. एक्टर ने कहा, ‘हनुमान शक्तिशाली थे और हमेशा उनके चेहरे पर एक मुस्कुराहट रहती थी. उनका किरदार निभा रहे एक्टर देवदत्त नागे ठीक से हिंदी में बात भी नहीं कर पाते हैं. उन्होंने उसे दिए गए डायलॉग्स से उसे कुछ और ही बना दिया है.

‘मेकर्स ने एक घटिया फिल्म बनाई, जिसे देखना शर्मनाक है’
रामायण के बारे में बात करते हुए एक्टर ने कहा, ‘वह पूरी तरह से एक अलग शो था, जिसे बनाने में मेकर्स ने अपना दिल, दिमाग और आत्म सब कुछ लगा दी थी सालों की मेहनत के बाद जाकर ऐसा सीरियल बना और जिसे पूरी दुनिया ने देखा और दिल से पसंद भी किया. बिंदु ने कहा कि फिल्म देखने के बाद मुझे भी ये समझ नहीं आया कि ‘आदिपुरुष’ के मेकर्स के दिल में क्या था? उन्होंने इसे बनाकर वह क्या हासिल करना चाहते थे? क्योंकि, उन्होंने केवल एक घटिया फिल्म बनाई है, जिसे देखना शर्मनाक है और वह कुछ नहीं कर पाए.’

‘पता कि उन्हें नशे में क्या दिया गया था’
उन्होंने कहा कि मेकर्स ने जो बनाया है, उसे देखना शर्मनाक है. अगर वह रामायण बनाने के बारे में सोच रहे थे, तो उन्हें इसकी कहानी पर अड़े रहना चाहिए था. बिंदु ने कहा कि मुझे नहीं पता कि उन्हें नशे में क्या दिया गया था या वो क्या सोच रहे थे? उनसे पास इतने बड़े बजट में इतनी शानदार फिल्म बनाने का सुनहरा मौका था और उन्होंने इसे बर्बाद कर दिया. दुनिया जानती है कि रावण की लंका सोने की थी, उन्होंने काले पत्थर की बनाई है. उन्होंने कहानी में ड्रैगन दिखाया है. सिर्फ मजाकिया बातें करके कहानी के साथ खिलवाड़ किया है, जो कि बहुत निराशाजनक है. कुल मिलकार कहा जाए तो ये फिल्म भी नकली है और इसका कलेक्शन भी. एक्टर का मानना है कि कृति सेनन को छोड़कर कोई रोल के साथ इंसाफ नहीं कर सका.

टैग: Adipurush, विंदू दारा सिंह

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*