ब्लड सर्कुलेशन को शरीर के पोर-पोर में तेज कर देंगी ये चीजें, नसों की हर दीवाल का रास्ता हो जाएगा साफ, देखें लिस्ट

हाइलाइट्स

अगर आपका ब्लड सर्कुलेशन खराब है तो सबसे पहले हेल्दी डाइट लेना शुरू कर दें.
जिन फूड या हर्ब्स में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है, वे भी ब्लड वैसल्स को रिलेक्स करते हैं.

अपना सर्कुलेशन कैसे बढ़ाएं: हमारी धड़कन खून के बलबूते चलती है. जिस तरह पानी बिन मछली नहीं रह सकती, उसी तरह खून के बिना इंसान नहीं रह सकता. खून शरीर के कतरे-कतरे में ऑक्सीजन और सभी तरह के पोषक तत्वों को पहुंचाता है और वहां से कार्बनडायऑक्साइड और अन्य हानिकारक चीजों को बाहर कर देता है. खून के इस पूरे रास्ते को ब्लड सर्कुलेशन कहते हैं. हार्ट, वेन, आर्टरी, कैपीलरिज और अन्य ब्लड वैसल्स ब्लड सर्कुलेशन का हिस्सा है. अगर ये अंग यानी हार्ट, नसें, शिराएं और सभी तरह की खून को ले जाने वाली नलिकाएं हेल्दी हो तो शरीर को हर आवश्यक तत्वों की पूर्ति हो जाती है. लेकिन अगर ब्लड सर्कुलेशन में कहीं भी गड़बड़ियां आ जाएं तो शरीर के कई कल-पुर्जे खराब होने लगते हैं और इससे कई बीमारियां भी होने लगती है.

खराब ब्लड सर्कुलेशन के लक्षण

खराब ब्लड सर्कुलेशन सबसे पहले पैर, हाथ, उंगलियां, टखने आदि को प्रभावित करता है. इसके साथ हार्ट कमजोर होने लगता है. इसका असर चलने के दौरान महसूस किया जा सकता है. स्किन में सेंसेशन होने लगता है. स्किन का रंग मटमैला हो जाता है. ऊंगलियों और टखने में ठंडापन और सून्नपन महसूस होता है. इसके साथ ही छाती में दर्द और सूजन की समस्या होने लगती है. नसें फूलने लगती हैं.

इन चीजों का करें सेवन

1.रोजमेरी-ब्रिटिश कॉलेज ऑफ नेचुरोपैथिक मेडिसीन के मुताबिक रोजमेरी, गिंको लीफ, गोटू कोला जैसे औषधीय पत्तों का सेवन कर शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाया जा सकता है. इन चीजों से ब्लड वैसल्स और नसों की दीवाल मजबूत होती है जिससे इनमें इंफ्लामेशन और सूजन नहीं हो पाता है और इन सबसे ब्लड सर्कुलेशन तेज होता है. इन हर्ब्स का लिक्विड या टैबलेट में इस्तेमाल किया जा सकता है. आप इन हर्ब्स की चाय बनाकर भी पी सकते हैं.

2.मसाले-
भारतीय मसालों में ब्लड सर्कुलेशन को तेज करने की क्षमता होती है. रिपोर्ट के मुताबिक हल्दी, अदरक, इलायची, दालचीनी इत्यादि खून की सभी तरह की नलियों में इंफ्लामेशन को कम करती है.

3.ओमेगा 3 फैटी एसिड-
रिपोर्ट के मुताबिक जिन फूड या हर्ब्स में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है, वे भी ब्लड वैसल्स को रिलेक्स करते हैं. इनमें अलसी के बीज, चिया सीड्स, अखरोट, सार्डि, ट्रॉट आदि मछलियों आदि में पर्याप्त मात्रा में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है. इसके साथ ही ब्लूबेरी, आड़ू, चैरी आदि में भी ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है. ये सब ब्लड सर्कुलेशन को तेज कर देता है.

खराब ब्लड सर्कुलेशन से कैसे बचें

अगर आपका ब्लड सर्कुलेशन खराब है तो सबसे पहले हेल्दी डाइट लेना शुरू कर दें. इसके साथ नियमित रूप से एक्सरसाइज करें. सिगरेट, शराब जैसी बुरी आदतों को तत्काल छोड़ दें. अगर ब्लड प्रेशर, डायबिटीज या हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या है तो इसका शीघ्र इलाज कराएं.

इसे भी पढ़ें: दांतों को क्रिस्टल की तरह चमकाना है तो महंगे प्रोडक्ट की जरूरत नहीं, 3 हर्बल चीजों का करें इस्तेमाल, सारी बीमारियां जाएंगी भाग

इसे भी पढ़ें:रोटी में घी लगाने से क्या घट जाता है मोटापा? किस तरह करता है शरीर पर असर, डॉक्टर ने बताई असली बात

टैग: स्वास्थ्य, स्वास्थ्य सुझाव, जीवन शैली

(टैग्सटूट्रांसलेट) कौन सी जड़ी-बूटियाँ रक्त प्रवाह बढ़ाती हैं (टी) रक्त प्रवाह बढ़ाने का सबसे अच्छा प्राकृतिक तरीका क्या है (टी) कौन से भारतीय मसाले रक्त परिसंचरण में मदद करते हैं (टी) आयुर्वेद में रक्त परिसंचरण में सुधार कैसे करें (टी) खराब परिसंचरण का कारण क्या है (टी) ) अपने परिसंचरण को कैसे बढ़ावा दें (टी) रक्त परिसंचरण का क्या होता है (टी) कौन से खाद्य पदार्थ रक्त प्रवाह को बढ़ाते हैं (टी) खराब रक्त परिसंचरण का कारण क्या है (टी) खराब परिसंचरण के लक्षण क्या हैं (टी) क्या खराब परिसंचरण के लिए गर्मी अच्छी है ( टी)मौसम परिसंचरण तंत्र को कैसे प्रभावित करता है(टी)क्या सर्दी रक्त परिसंचरण को प्रभावित करती है(टी)क्या ठंड रक्त परिसंचरण को खराब कर सकती है(टी)क्या परिसंचरण में सुधार किया जा सकता है(टी)ब्लेड सरकुलेशन बढ़ाने वाले बजट(टी)ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाने के उपाय(टी) )नसों में ब्लड सरकुलेशन कैसे बढ़ाया जाए?ब्लड सरकुलेशन खराब होने के लक्षण

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*