उम्र के हिसाब से कितने घंटे की नींद जरूरी, सोने-जागने का क्या हो सही समय, जान लें, वरना बिगड़ सकती है सेहत

हाइलाइट्स

रात ढ़लते ही जितना जल्‍दी बेड पर सोने जाएंं, सेहत के लिए फायदेमंद होता है.
18 से 64 साल के युवा व बुजुर्गों के लिए 7 से 9 घंटे की नींद काफी जरूरी होता है.

सोने और जागने का सबसे अच्छा समय: वैसे तो इंसान को 7 से 9 घंटे की नींद लेना जरूरी माना जाता है, लेकिन हर इंसान की जरूरत,उसके लाइफस्‍टाइल, उम्र आदि के हिसाब से ये घट या बढ़ सकता है. यह आपके सोने के पैटर्न पर भी निर्भर करता है कि आप कितनी देर तक गहरी नींद में सो पाते हैं. इसके अलावा, आपकी यह आपके सोने और जागने के पैटर्न से भी प्रभावित होता है. ऐसे में हम बताते हैं कि उम्र के आधार पर हर इंसान के लिए सोने और जागने का सही समय क्‍या हो सकता है और उसे कितने घंटे की नींद लेना जरूरी होता है.

सोने का सही समय
मेडिकल न्‍यूज
के मुताबिक, हमारा शरीर और ब्रेन सूर्यास्‍त होने के बाद ही सुस्‍त पड़ने लगता है और उसके काम करने की क्षमता में अंतर आने लगता है. यही वजह है कि आप जितना जल्‍दी रात के वक्‍त बेड पर सोने के लिए चले जाएं, शरीर के लिए उतना अधिक फायदेमंद हो सकता है.

उठने का सही समय
ह्यूमन बॉडी को इस तरह बनाया गया है कि यह सूर्योदय के साथ ही काम करने के लिए खुद को तैयार कर लेता है. इसलिए सूरज निकलने के साथ ही जल्‍दी उठना हमारी सेहत के लिए अच्‍छा है. इसके अलावा, एक तय समय पर ही रोज उठने की आदत डालना चाहिए. इससे स्‍लीप पैटर्न को मेंटेन रखने में मदद मिलती है. मसलन, अगर आप 9 बजे सोते हैं और सुबह 5 से 6 बजे उठ जाएं. यह नियम आप रोज फॉलो करें.

इसे भी पढ़ें : रोज करते हैं कच्‍चे स्प्राउट का सेवन, जान लें इसके गंभीर नुकसान को भी, पड़ सकते हैं बीमार

उम्र के अनुसार कितना सोना जरूरी
नौ महीने के बच्‍चे के लिए 14 से 17 घंटे
2 साल के बच्‍चे के लिए 11 से 16 घंटे
3 से 5 साल के बच्‍चे के लिए 10 से 13 घंटे
6 से 13 साल के बच्‍चे के लिए 9 से 12 घंटे
14 से 17 साल के टीनएज के लिए 8 से 10 घंटे
18 से 64 साल क युवा व बुजुर्गों के लिए 7 से 9 घंटे
65 के बुजुर्गों के लिए 7 से 9 घंटे की नींद काफी जरूरी होता है.

ये भी पढ़ें: गर्मियों में डिहाइड्रेशन से बचाएंगे ये 9 होममेड ड्रिंक्स, सुस्ती को भी करेंगे दूर, मिनटों में हो जाते हैं तैयार

कब करें डॉक्‍टर से संपर्क
-अगर आपको रात भर नींद नहीं आ रही और सोने के लिए संघर्ष करते रहते हैं तो डॉक्‍टर से संपर्क करें. यह इनसोम्निया का लक्षण हो सकता है.

-अगर आप रातभर सोने के बाद भी दिन के वक्‍त एनर्जी महसूस नहीं कर रहे और थकान रहती है तो डॉक्‍टर से संपर्क करें. यह ऑब्‍सट्रक्टिव स्‍लीप एपनिया का लक्षण हो सकता है.

टैग: स्वास्थ्य, जीवन शैली

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*