web site hit counter

ब्रूसेल्स: ‘बाज़ीचा-ए-अतफाल है, दुनिया मिरे आगे, होता है शब-ओ-रोज़ तमाशा मेरे आगे’. गालिब का यह शेर रील और टिकटॉक से प्रभावित दुनिया में और भी मौजू लगने लगा है. जहां पर जिसे भी देखिए वह अपने आप में गुम नजर आता है. ऐसा ही वाकया सामने आया जब बेल्जियम में एक शख्स (टिकटॉकर) ने अपने परिवार को सबक सिखाने के लिए और यह बताने के लिए कि कौन किसकी परवाह करता है अपनी नकली मौत का तमाशा किया और फिर खुद ही अपने अंतिम संस्कार में हेलीकॉप्टर से प्रकट हो गया.

पत्नी और बच्चों ने ही रचा मौत का नाटक
डेविड बार्टन की पत्नी और उनके बच्चों ने सोचा कि अपने परिवार से मजाक किया जाए और यह देखा जाए कि 45 वर्षीय डेविड की कौन ज्यादा परवाह करता है. उन्होंने डेविड की मौत की खबर फैला दी. उनके बच्चों ने सोशल मीडिया पर नकली श्रद्धांजलि देते हुए लिखा, ‘पिताजी की आत्मा को शांति मिले, हम कभी भी आपको भुला नहीं पाएंगे. जिंदगी इतनी कठोर क्यों है. अभी तो आपको बहुत कुछ देखना था, दादा बनना था. हम आपको बहुत प्यार करते हैं.’ इस तरह की भावुक बातों के लिखने के साथ-साथ उनके परिवार ने लीज शहर के पास में ही उनके अंतिम संस्कार का आयोजन भी रखा. जिसमें उनके परिवार के सदस्यों सहित कई दोस्त काले रंग के कपड़े पहन कर शामिल हुए.

अंतिम संस्कार स्थल पर हेलीकॉप्टर ने किया लोगों को हैरान
जब लोग अंतिम संस्कार होने का इंतजार कर रहे थे, तभी उन्होंने देखा कि वहां पर एक हेलीकॉप्टर आकर उतरा. उसमें से बार्टन अपनी कैमरा टीम के साथ बाहर निकले. डेविड के देखते ही जो लोग उनके जाने से दुखी थे वह खुश होकर उनसे लिपट गए. टिकटॉक पर पोस्ट हुए इस वीडियो में लोगों को उन्हें गले लगाते हुए और भावुक होते हुए देखा गया.

ये भी पढ़ें- प्यार का व्यापार! महिला बन गई ‘भाड़े की गर्लफ्रेंड’, महीने भर की सैलेरी जितनी हो गई एक दिन की कमाई

परिवार का रिएक्शन देखने के लिए रचा मौत का नाटक
रिपोर्ट बताती हैं कि इसके बाद टिकटॉकर डेविड ने कहा, ‘उन्होंने नकली मौत का खेल इसलिए रचा क्योंकि वह देखना चाहते थे कि उनका इतना बड़ा परिवार इस पर कैसी प्रतिक्रिया देता है. क्योंकि उन्हें लगता था कि उनके परिवार ने हमेशा उन्हें नकारा है.’ डेविड ने कहा, ‘मुझे परिवार से हमेशा दुख मिला, मुझे कहीं भी आमंत्रित नहीं किया जाता था, कोई मुझे पूछता नहीं था, हम हमेशा अलग ही बड़े हुए. मैं बहुत नजरअंदाज महसूस करता था. इसलिए मैं उनको जिंदगी का एक सबक देना चाहता था कि आपको किसी से मिलने के लिए उसके मरने तक का इंतजार नहीं करना चाहिए.’ अपनी मौत का नाटक रचने के बाद डेविड का दावा किया कि बहुत से लोग वहां पहुंचे जिससे उन्हें विश्वास हो गया है कि लोग उनकी परवाह करते हैं.

टैग: टिक टॉक, वायरल खबर

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *