web site hit counter

डबल एक्सएल मूवी समीक्षा हिंदी में: सोनाक्षी स‍िन्‍हा और हुमा कुरैशी बॉलीवुड की दो ऐसी हीरोइने हैं, ज‍िनके वजन को लेकर अक्‍सर बातें होती रही हैं. ये दोनों इन बातों और तानों का जवाब देते हुए एक फिल्‍म लाई हैं, ज‍िसका नाम है ‘डबल एक्‍सएल’. दरअसल महि‍लाओं की सुंदरता को लेकर कई गाने-गजलें कही गई हैं, कई कीर्त‍िमान गढ़ गए हैं, लेकिन इनमें बताई गई मह‍िलाएं असल में बहुत कम होती हैं. ‘लक 28 कुड़ी दा और 47 वेट कुड़ी दा’ वाले इस दौर में ‘डबल एक्‍सएल’ वो फिल्‍म है जो ‘परफेक्‍ट बॉडी’ वाली मह‍िलाओं के इतर शरीर रखने वाली मह‍िलाओं की कहानी सामने रखती है. हालांकि इन द‍िनों बॉडी शेम‍िंग पर काफी बात हो रही है, कई तरह के व‍िज्ञापन बन रहे हैं. तो क्‍या हुमा और सोनाक्षी की ये फिल्‍म आपको कुछ नया बताती हैं, कुछ खास द‍िखा जाती है… चल‍िए आपको बताते हैं.

कहानी: ये कहानी है मेरठ में रहने वाली राजश्री त्र‍िवेदी (हुमा कुरैशी) और द‍िल्‍ली में रहने वाली सायरा खन्ना (सोनाक्षी स‍िन्‍हा) की, जो ओवरवेट लड़कियां हैं. राजश्री पर क्रिकेट का जुनून है और वह 19 साल की उम्र से स्‍पोर्ट्स प्र‍िजेंटर बनना चाहती है. वहीं सायरा खन्ना एक फैशन ड‍िजाइनर हैं और वह अपना खुद का लेबल लॉन्‍च करना चाहती हैं. लेकिन इन ओवरवेट लड़कियों के लिए उनका वजन हर बार उनके काम के आड़े आ जाता है. राजश्री को उसके वजन के चलते स्‍पोर्ट्स चैनल में एंकर नहीं बनाया जाता और सायरा को उसका बॉयफ्रेंड चीट करता हुआ पकड़ा जाता है. लेकिन एक मौके पर ये दोनों मह‍िलाएं एक-दूसरे से म‍िलती हैं और इन दोनों के सपने आपस में म‍िल जाते हैं. इसी सफर में इनसे जुड़ते हैं श्रीकांत (महत राघवेंद्र) और जोरावर रहमानी (जहीर इकबाल) जो न केवल इनका साथ देते हैं बल्‍कि इन दो लड़कियों के वजन के इतर उन्‍हें इनकी खूबसूरती द‍िखती है और इन्‍हें प्‍यार भी हो जाता है. अब ये दोनों ओवरवेट लड़कियां अपने डबल एक्‍सएल साइज के सपने पूरे कर पाती हैं या नहीं, यही आपको इस फिल्‍म में देखने को म‍िलेगा.

डबल एक्‍सएल एक हल्‍की-फुलकी कॉमेडी फिल्‍म है, ज‍िसमें बॉडी शेमिंग जैसे जरूरी व‍िषय को उठाया गया है. लेकिन ये कहानी कहीं भी कुछ ऐसा नहीं द‍िखा या महसूस करा पाती जो इससे पहले आपने नहीं देखा या सुना हो. कहानी की शुरुआत ठीक है लेकिन कुछ देर बात कहानी थोड़ी ख‍िंची से लगती है. कुछ सीन्‍स काफी मजेदार हैं ज‍िनमें आप खूब हसेंगे लेकिन कहानी में सप्राइज इलीमेंट कहीं भी नहीं है. अगले सीन में क्‍या होगा या कहानी कहां जा रही है, ये आपको समझ में आता जाएगा. फर्स्‍ट हाफ और सेकंड हाफ में कॉमेडी का डोज लगभग बराबर मात्रा में आपको म‍िलता रहेगा, जो एक अच्‍छी बात है इस फिल्‍म की.

क्रिकेट और स‍िनेमा दर्शकों को हमेशा खींचते हैं, जो इस फिल्‍म में भी देखने को म‍िलेगा. इस फिल्‍म में आपको कपिल देव और श‍िखर धवन भी देखने को म‍िलेंगे. लेकिन कपिल देव के ज‍िस इंटरव्‍यू को फिल्‍म में इतना हाइप क‍िया गया है, वो इंटरव्‍यू अगर सच में द‍िखाया जाता, जो शायद फिल्‍म एक नोट ऊपर जा सकती थी, लेकिन ये कमी मुझे बहुत खटकी. दूसरी तरफ बॉडी टाइप के स्‍टीर‍ियोटाइप को तोड़ती ये फिल्‍म स्‍पोर्ट्स के नाम पर खुद ही स्‍टीर‍ियोटाइप द‍िखा रही है. स्‍पोर्ट्स प्र‍िजेंटर बनने का सपना देखने वाली राजश्री पूरी फिल्‍म में बस क्रिकेट पर ही बोलती और बात करती है. जैसे ठंडा मतलब कोका कोला ही नहीं होता, वैसे ही स्‍पोर्ट्स का मतलब स‍िर्फ क्रिकेट ही नहीं होता… पर खैर.

एक्‍ट‍िंग की बात करें तो चारों ही एक्‍टर अपनी अपनी जगह अच्‍छे नजर आए हैं. सोनाक्षी और हुमा दोनों ने एक-दूसरे को स्‍क्रीन पर खूब कॉम्‍पलीमेंट क‍िया है. पर मुझे लगता है हुमा कुरैशी से आप काफी कनेक्‍ट करता हुआ महसूस करेंगे. हुमा की प्रोब्‍लम, उनका अंदाज काफी मजेदार रहा है. वहीं जहीर इकबाल एक लव‍िंग बॉय बने हैं ज‍िसका अंदाज आपको अच्‍छा लगेगा. हालांकि मुझे जहीर के क‍िरदार को देखकर लगा था कि आखिर में कुछ तो इंट्रस्‍ट‍िंग न‍िकलेगा, पर वैसा कुछ हुआ नहीं. महत राघवेंद्र साउथ के एक्‍टर हैं और उनकी भाषा तम‍िल है. उनके इसी अंदाज को फिल्‍म में भी रखा गया है जो काफी अच्‍छा लगा है. महत आपको जरूर पसंद आएंगे.

इस हल्‍की फुल्‍की कहानी और मजेदार संदेश के लिए आपको ये फिल्‍म एक बार थ‍िएटर में जरूर देखनी चाहिए. मेरी तरफ से इस फिल्‍म को 3 स्‍टार

डिटेल्ड रेटिंग

कहानी :
स्क्रिनप्ल :
डायरेक्शन :
संगीत :

टैग: हुमा क़ुरैशी, Sonakshi sinha

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *