भारतीय दूतावास ने अमेरिकियों और विदेशी नागरिकों के लिए मुफ्त हिंदी कक्षाएं शुरू कीं

Indian Embassy Starts Free Hindi classes for Americans and foreign nationals : भारतीय दूतावास (Indian Embassy) हिंदी भाषा सीखने और भारत की उदार संस्कृति के बारे में समझ बढ़ाने के इच्छुक अमेरिकियों और विदेशी नागरिकों के लिए नि:शुल्क हिंदी कक्षाएं शुरू कर रहा है. भारतीय दूतावास ने सोमवार को एक बयान में कहा कि दूतावास में भारतीय संस्कृति के शिक्षक मोक्षराज 16 जनवरी से यह कक्षाएं लेंगे. मोक्षराज ने बताया कि भारत की वैश्विक प्रतिष्ठा पिछले कुछ वर्षों में काफी बढ़ी है. भारत के बारे में सही जानकारी हासिल करने के लिए लोग हिंदी सीखना चाहते हैं.

इस कोर्स में क्या पढ़ाया जाएगा
इस कोर्स में भारत की कला-संस्कृति, परिवार प्रणाली, वैवाहिक जीवन, वास्तुकला, हिंदी फिल्में, योग-ध्यान, पाक-कला, राजनीति और कारोबार के बारे में लोगों को पढ़ाया जाएगा. विदेशों में आज हिंदी को लेकर रुचि बढ़ी है. इसलिए दूतावास हिंदी में इन चीजों को पढ़ाएगा. अमेरिका में हिंदी की लोकप्रियता लगातार बढ़ रही है. बता दें कि भारतीय दूतावास पिछले दो साल से कई देशों में लोगों को हिंदी सिखाने के लिए नि:शुल्क कक्षाओं का आयोजन कर रहा है. उसने जॉर्ज वाशिंगटन विश्वविद्यालय और जॉर्जटाउन विश्वविद्यालय जैसे प्रतिष्ठित अमेरिकी उच्च शिक्षा केन्द्रों के साथ भागीदारी भी की है.

अमेरिकियों में बढ़ा हिंदी के प्रति लगाव
अमेरिका में भारतीय मूल के संगठन कवि सम्मेलन और विभिन्न प्रकार की हिंदी प्रतियोगिताओं का आयोजन कर हिंदी की लोकप्रियता बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं. मोक्षराज ने बताया कि हिंदी और संस्कृत कई स्थानों पर सिखायी जाती है और गीता के श्लोक भी पढ़ाए जाते हैं. मोक्षराज वाशिंगटन डीसी में भारतीय दूतावास में नियुक्त पहले सांस्कृतिक राजनयिक हैं. उन्हें यहां भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद ने भारतीय संस्कृति शिक्षक के रूप में नियुक्त किया है.

मोक्षराज वाशिंगटन डीसी, वर्जिनिया, मैरीलैंड, वेस्ट वर्जिनियन और केंटकी जैसे कई स्थानों पर हिंदी, भारतीय संस्कृति, योग और संस्कृति के बारे में पढ़ाते हैं. उन्होंने 2018 और 2019 में भारतीय दूतावास में आयोजित अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का नेतृत्व भी किया था. भारतीय दूतावास ने सोमवार को एक बयान में कहा कि दूतावास में भारतीय संस्कृति के शिक्षक मोक्षराज 16 जनवरी से यह कक्षाएं लेंगे.

ये भी पढ़ें- Success Story: अखबार बेचने वाले की बेटी बनी IAS अफसर, पहली बार में क्रैक किया एग्‍जाम

टैग: अमेरिका, खबर नहीं, ऑनलाइन शिक्षा, टेक न्यूज नं, वाशिंगटन

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*