स्कूल प्राध्यापक संस्कृत शिक्षा भर्ती में 130 पद बढ़ाए – News18 हिंदी

अजमेर. प्रतियोगी परीक्षाओं (Competitive examinations) की तैयारी कर रहे प्रदेश के बेरोजगारों (unemployed) के लिए नए साल में अच्छी खबर (Good News) आई है. राजस्थान लोक सेवा आयोग (RPSC) की ओर से स्कूल प्राध्यापक संस्कृत शिक्षा (Sanskrit education) के लिए निकाली गई भर्ती में 130 पदों की बढ़ोतरी (increase) की गई है. आयोग की ओर से सोमवार को जारी किए गए शुद्धि पत्र (Correction letter) में इसका हवाला दिया गया है. मूल भर्ती के मुकाबले अब इसमें पद लगभग दुगुने (Almost double) कर दिए गए हैं.

3 से 27 जनवरी के बीच ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं
आयोग की ओर से इस भर्ती के लिए शुरुआती विज्ञापन 6 विषयों के कुल 134 पदों के लिए जारी किया गया था. उसके बाद पिछले साल लागू अति पिछड़ा वर्ग के लिए 5 फीसदी आरक्षण, आर्थिक आधार पर मिलने वाला 10 फीसदी आरक्षण और 4 फीसदी आरक्षण विशेष योग्यजन को दिए जाने के फैसले के बाद अब नए सिरे से पदों का वर्गीकरण किया गया है. आयोग ने इस संबध में शुद्धिपत्र जारी किया है. अब यह परीक्षा 264 पदों के लिए आयोजित होगी. इसके लिए वापस से ऑनलाइन आवेदन लिए जाएंगे. अभ्यर्थी अब इसके लिए 13 से 27 जनवरी के बीच ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं.

यह होगा पदों का नया वर्गीकरण
आयोग की ओर से जारी शुद्धि-पत्र में नए पदों का वर्गीकरण भी दिया गया है. इसके मुताबिक हिन्दी विषय में अब 46 पद, अंग्रेजी में 48, व्याकरण में 52, सामान्य व्याकरण में 58, साहित्य में 56 और इतिहास में 4 पद शामिल किए गए हैं.

अभ्यर्थियों को काफी राहत मिलने की उम्मीद
इससे इस प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को काफी राहत मिलने की उम्मीद है. आने वाले दिनों में राजस्थान में कई प्रतियोगी परीक्षाओं की परीक्षाएं होनी हैं. वहीं राज्य सरकार भी अपने वादे के मुताबिक लगातार विभिन्न विभागों में रिक्त पड़े पदों के लिए भर्तियों के विज्ञापन जारी कर रही है.  इससे बेरोजगार भी तैयारियों में जुटे हुए हैं.

पंचायत चुनाव-2020: प्रथम चरण के लिए कल जारी होगी अधिसूचना, नामांकन 8 जनवरी को

सड़कों पर निकला आक्रोशित सिख समाज, पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारों से गूंजा अजमेर

टैग: अजमेर समाचार, राजस्थान शिक्षा विभाग, राजस्थान समाचार, राजस्थान लोक सेवा आयोग, भर्ती

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*