नई दिल्ली. विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (इंडिया) के नाम को लेकर केंद्र की सत्ताधारी बीजेपी और विपक्षी गुट के बीच मंगलवार को खासी जुबानी जंग देखी गई. इसी कड़ी में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने 26 दलों के इस विपक्षी गठबंधन इंडिया को ‘नए लेबल वाला पुराना उत्पाद’ करार दिया. इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि ‘महज नाम बदल लेने से विपक्षी गठबंधन को अपने बुरे अतीत से छुटकारा नहीं मिल पाएगा.’ गृह मंत्री शाह के अलावा विदेश मंत्री एस जयशंकर और केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी विपक्षी गठबंधन के नए नाम को लेकर निशाना साधा है. बता दें कि कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्षी गठबंधन का नाम पहले संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) था.

गृह मंत्री अमित शाह ने मंगलवार ट्वीट किया, ‘अपने बुरे अतीत से छुटकारा पाने के लिए विपक्षी गठबंधन ने अपना नाम बदल लिया है, लेकिन केवल नाम बदलकर I.N.D.I.A. कर देने से उनके पिछले कर्म जनता की स्मृति से नहीं मिट जाएंगे. हमारे देश के लोग इतने समझदार हैं कि इस प्रोपेगैंडा को समझ सकेंगे और इस नए लेबल वाले पुराने उत्पाद को उसी अस्वीकृति के साथ व्यवहार करेंगे.

‘I.N.D.I.A नाम का फायदा उठाना चाहता है विपक्षी गठबंधन’
वहीं केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने विपक्षी गठबंधन पर इंडिया नाम का फायदा उठाने का आरोप लगाया. उन्होंने ट्वीट किया, ‘जो लोग भारत में निर्वाचित सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए पाकिस्तान से मदद की भीख मांग रहे थे, वे अब I.N.D.I.A नाम का फायदा उठाना चाहते हैं.’

वित्त मंत्री ने इसके साथ ही लिखा, ‘जो केवल हिंदी के प्रयोग पर लेक्चर देते थे, वे अब भारत को भूल गए और I.N.D.I.A को बुरा नहीं मानते. जो लोग केवल एक वंश/परिवार/जाति की सेवा करते हुए भारत को भूल गए, वे आज I.N.D.I.A को याद कर रहे हैं. भारतीय इस अवसरवादिता को पहचानते हैं.’

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी विपक्षी गठबंधन पर कुछ इसी तरह का आरोप लगाते हुए कहा, ‘विडंबना यह है कि जो लोग विदेश से हस्तक्षेप चाहते हैं वे अब मानते हैं कि I.N.D.I.A एक कवर के रूप में काम कर सकता है. कोई चिंता की बात नहीं; लोग इसके आर-पार भी देखेंगे.’

पीएम मोदी ने ईस्ट इंडिया कंपनी और इंडियन मुजाहिदीन से की तुलना
इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी की संसदीय दल की बैठक में विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ को देश का अब तक का सबसे ‘दिशाहीन’ गठबंधन करार दिया. उन्होंने ईस्ट इंडिया कंपनी तथा इंडियन मुजाहिदीन जैसे नामों का हवाला देते हुए कहा कि केवल देश के नाम के इस्तेमाल से लोगों को गुमराह नहीं किया जा सकता.

कांग्रेस ने किया पलटवार
वहीं पीएम मोदी के इस प्रहार पर पलटवार करते हुए विपक्षी गठबंधन ने आरोप लगाया कि वह इस गठबंधन से बहुत परेशान हैं और विरोध करते-करते ‘इंडिया’ से ही नफरत करने लगे हैं. कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने ट्वीट कर कहा, ‘प्रधानमंत्री जी सदन के बाहर ‘इंडिया’ को ‘ईस्ट इंडिया कंपनी’ बोल रहें हैं! कांग्रेस पार्टी हमेशा ‘मदर इंडिया’ यानी ‘भारत माता’ के साथ रही है.’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘मोदी जी, आप हमें जो चाहें संबोधित कर लें. हम इंडिया हैं। हम मणिपुर पर मरहम लगाने और हर महिला एवं बच्चे के आंसू पोंछने में मदद करेंगे. हम राज्य के सभी लोगों के जीवन में प्यार और शांति वापस लाएंगे. हम मणिपुर में भारत की अवधारणा का पुनर्निर्माण करेंगे.’

टैग: अमित शाह, कांग्रेस, भारत, S Jaishankar

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *