अमेरिका के दुश्मन से गलबहियां करने जा रहे ये दो बड़े देश, देता रहता है परमाणु बम की धमकी

प्योंगयांग: अमेरिका से पंगा लेने के लिए रूस ने एक और चाल चल दी है. लगातार परमाणु बम की धमकियां देने वाले और अमेरिका के सबसे बड़े दुश्मन उत्तर कोरिया से रूस अपनी नजदीकियां बढ़ाने में लगा है. उत्तर कोरिया ने कोरियाई युद्धविराम की 70वीं वर्षगांठ समारोह में भाग लेने के लिए चीन और रूस के प्रतिनिधिमंडलों को आमंत्रित किया है. यह जानकारी प्योंगयांग राज्य मीडिया ने दी है. रिपोर्ट्स के मुताबिक कोरोना महामारी के बाद उत्तर कोरिया द्वारा देश में पहली बार विदेशी मेहमानों को आमंत्रित किया जा रहा है.

दक्षिण कोरिया की एक प्रमुख समाचार एजेंसी योनहाप की एक रिपोर्ट के अनुसार, महामारी के बाद पिछले साल उत्तर कोरिया और चीन के बीच कार्गो परिवहन आंशिक रूप से फिर से शुरू हुआ था. कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी (केसीएनए) ने मंगलवार को बताया कि रूसी रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू को डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया (डीपीआरके) के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय ने आमंत्रित किया है.

केसीएनए ने बताया, “डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया (डीपीआरके) के राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय के निमंत्रण पर, रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु के नेतृत्व में रूसी संघ का एक सैन्य प्रतिनिधिमंडल महान फादरलैंड लिबरेशन वॉर में जीत की 70वीं वर्षगांठ के अवसर पर कोरिया का दौरा करेगा.” केसीएनए ने आगे कहा, “यह यात्रा समय की मांग को ध्यान में रखते हुए पारंपरिक कोरिया-रूस मैत्रीपूर्ण संबंधों को और विकसित करने में एक महत्वपूर्ण अवसर होगी.”

TASS के अनुसार, रूसी रक्षा मंत्रालय ने पुष्टि की कि शोइगु के नेतृत्व में रूसी प्रतिनिधिमंडल 1950-1953 के फादरलैंड लिबरेशन वॉर में डीपीआरके की जीत की 70वीं वर्षगांठ के अवसर पर उत्सव कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए 25-27 जुलाई को उत्तर कोरिया का दौरा करेगा. रूसी समाचार एजेंसी ने देश के रक्षा मंत्रालय के हवाले से कहा कि यह यात्रा “द्विपक्षीय सैन्य संबंधों को मजबूत करने में योगदान देगी और दोनों देशों के बीच सहयोग के विकास में एक महत्वपूर्ण चरण को चिह्नित करेगी.”

उत्तर कोरिया ने युद्धविराम समारोह में एक चीनी पार्टी और सरकारी प्रतिनिधिमंडल को भी आमंत्रित किया है. योनहाप समाचार एजेंसी ने केसीएनए के हवाले से रिपोर्ट दी कि उत्तर कोरिया की सत्तारूढ़ वर्कर्स पार्टी की केंद्रीय समिति और उसकी सरकार ने वर्षगांठ समारोह में चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय समिति के राजनीतिक ब्यूरो के सदस्य ली होंगज़ोंग के नेतृत्व में एक चीनी प्रतिनिधिमंडल को आमंत्रित किया है. उत्तर कोरिया ने 27 जुलाई, 1953 को कोरियाई युद्ध युद्धविराम पर हस्ताक्षरित किए थे. उत्तर कोरिया उसकी 70वीं वर्षगांठ मनाने की तैयारी कर रहा है.

.

पहले प्रकाशित : 25 जुलाई, 2023, शाम 7:38 बजे IST

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*