कीव. पिछले साल फरवरी में रूस ने जब यूक्रेन पर हमला किया तब किसे पता था कि यह लड़ाई इतनी लंबी चलेगी. अब इसमें ऐसा मोड़ आ गया हैं जहां से यूक्रेन फिर से उठ रहा है और रूस  की हालत कमजोर दिखने लगी है. अमेरिकी विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकेन ने कहा है कि यूक्रेन ने रूस पर हमला कर कब्जाई जमीन में से आधी वापस ले ली है.

सीएनएन को दिए एक साक्षात्कार में ब्लिंकेन ने कहा, “अब यूक्रेन रूस द्वारा कब्जाई ज्यादा से ज्यादा जमीन को वापस लेने की लड़ाई लड़ रहा है. हालांकि उसने (यूक्रेन) शुरुआत में कब्जाई जमीन का 50 फीसद वापस हासिल कर लिया है. वह अपनी ज़मीन को वापस पाने के लिए बहुत मुश्किल लड़ाई लड़ रहा है. वैसे तो यह जवाबी हमले की शुरुआत है, यह बेहद मुश्किल दौर है.”

अभी तो और लड़ाई बाकी है
अमेरिकी विदेश सचिव ने बताया कि यूक्रेन के जवाबी हमले के सामने रूसियों ने मजबूत सुरक्षा व्यवस्था की है. वहीं रूसियों के विपरीत, यूक्रेनियन अपनी जमीन के लिए, अपने भविष्य के लिए, अपने देश के लिए, अपनी आजादी के लिए लड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि यह निर्णायक बात है और यही जारी रहेगा. लेकिन यह कोई एक या दो हफ्तों में निपटने वाला मामला नहीं है. मुझे लगता है इसमें कई महीने लग सकते हैं.”

अमेरिका ने दी अरबों डॉलर की सैन्य सहायता
संघर्ष की शुरुआत के बाद से  ही संयुक्त राज्य अमेरिका ने यूक्रेन को अरबों डॉलर की सैन्य सहायता प्रदान की है, जिसमें क्लस्टर युद्ध सामग्री का का हालिया विवादास्पद फैसला भी शामिल है. ऐसे हथियारों से नागरिकों को होने वाले खतरों के बारे में यूनाइटेड किंगडम जैसे कुछ अमेरिकी सहयोगियों की चिंताओं के बावजूद, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने यूक्रेन को समर्थन देने के महत्व पर जोर दिया, जिसमें उन्हें युद्ध सामग्री प्रदान करना भी शामिल है.

यूक्रेन का आरोप, हथियारों की आपूर्ति नहीं होने से हुई देर
वहीं अरबों डॉलर की सहायता दिए जाने के बावजूद, यूक्रेनी राष्ट्रपति व्लादिमिर ज़ेलेंस्की ने रविवार को देश में जवाबी कार्रवाई में देरी के लिए युद्ध सामग्री की आपूर्ति में कमी को जिम्मेदार ठहराया. ज़ेलेंस्की ने सीएनएन को बताया, “हमारी योजना बसंत में हमला शुरू करने की थी. लेकिन हम ऐसा नहीं कर पाए क्योंकि, हमारे पास पर्याप्त युद्ध सामग्री और हथियार नहीं थे. इन हथियारों के लिए हमारी ब्रिगेड प्रशिक्षित भी नहीं थी. ज़ेलेंस्की के आरोप का जवाब देते हुए अमेरिका के शीर्ष राजनयिक ने कहा कि हम यूक्रेन के हालात को समझ सकते हैं, अगर मैं हमारे यूक्रेनी दोस्त और साझेदार की जगह पर होता तो शायद मैं भी बिल्कुल ऐसा ही कुछ बोलता. ब्लिंकन ने कहा कि यूक्रेन के समर्थन में अलग-अलग करीब 50 देशों का गठबंधन साथ में है. लॉयड ऑस्टिन सेना की ओर से इस प्रक्रिया का नेतृत्व कर रहे हैं. अलग-अलग देश, अलग-अलग वक्त पर अलग-अलग काम कर रहे हैं.

टैग: अमेरिका, रूस, रूस यूक्रेन युद्ध, यूक्रेन

(टैग्सटूट्रांसलेट)रूस यूक्रेन युद्ध(टी)रूस(टी)व्लादिमीर पुतिन(टी)यूक्रेन युद्ध(टी)रूसी सेना(टी)विश्व समाचार(टी)रूस राष्ट्रपति(टी)विश्व समाचार हिंदी में(टी)रूस यूक्रेन युद्ध नवीनतम समाचार(टी)रूस यूक्रेन युद्ध समाचार(टी)अमेरिका

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *