नई दिल्‍ली. मोदी सरकार जनहित से संबंधित कार्य प्राथमिकता के स्‍तर करा रही है. देश में बन रहे हाईवे और एक्‍सप्रेसवे इसके उदाहरण हैं. देहरादून एक्सप्रेसवे इन्‍हीं में से एक है. इससे आवागमन में दिल्‍ली और आसपास के लोगों का समय बचेगा, साथ ही जाम से भी छुटकारा मिलेगा.    इस वर्ष अंत तक पूर्वी दिल्‍ली के लोगों को जाम से राहत मिलेगी. दिल्‍ली से सहारनपुर और देहरादून जाने वालों को भी सुविधा होगी. दिल्‍ली सहारनपुर हाईवे को तैयार करने की डेडलाइन तय कर दी गयी है, यह दिसंबर तक बनकर शुरू हो जाएगा, जिसके बाद लोगों को आवागमन में सुविधा होगी.

अक्षरधाम दिल्ली से देहरादून तक 210 तक किमी. लंबा हाईवे का निर्माण चल रहा है. यह हाइवे से अक्षरधाम, सोनिया विहार, मंडोला विहार,ईपीए, खेकड़ा, बागपत होते हुए सहारनपुर जा रहा है.   इसका ि‍नर्माण का काम तेजी से चल रहा है. जनवरी में 35 फीसदी तक काम पूरा करने का लक्ष्य रखा गया था, जो 40 फीसदी पूरा कर लिया गया है.

नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने दिसंबर तक एक्सप्रेसवे के पहले दो चरणों को यातायात के लिए खोलने डेड लाइन तय कर कर दी है. इनके खुलने से अक्षरधाम से लोनी बॉर्डर होते हुए बागपत में खेकड़ा (ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे-इंपोई) तक जाने में आसानी हो जाएगी. लोगों का समय बचेगा. करीब 31 किमी लंबे इस चरण के खुलने से पूर्वी और उत्तरी दिल्ली को जाम से राहत मिलेगी. क्‍योंकि जब इस हाईवे पर ट्रैफिक शिफ्ट हो जाएगा तो अंदर की सड़कों पर ट्रैफिक कम हो जाएगा. इस तरह पूरी पूर्वी दिल्‍ली को जाम से राहत मिलेगी. इसके अलावा पंजाब-हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बागपत, सहारनपुर जाने वाले लोग एक्सप्रेस से का इस्‍तेमाल कर समय बचा  सकते हैं.

एनएचएआई अधिकारियों के अनुसार पिलर बनाने का करीब 70 फीसदी काम पूरा कर लिया गया है, बाकी काम मार्च-अप्रैल तक पूरा हो जाएगा. अभी तक अगर दिल्ली-सहारनपुर मार्ग से होते हुए देहरादून जाने में  छह से सात घंटे का समय लगाते है,  इसलिए लोग देहरादून जाने के लिए दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन यह हाईवे बनने के बाद दो से ढाई घंटे में पहुंचा जा सकेगा.

टैग: दिल्ली मेरठ एक्सप्रेसवे, मोदी सरकार

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *