क्या शिंदे और फडणवीस के बीच चल रही कोल्ड वॉर? महाराष्ट्र सीएम ने दिया ये जवाब

नई दिल्‍ली. महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री एकनाथ शिंदे ने महाराष्‍ट्र बीजेपी के अध्‍यक्ष देवेंद्र फडणवीस के साथ किसी प्रकार की खटपट होने की बात से इंकार किया है. न्‍यूज18 लोकमत को दिए इंटरव्‍यू के दौरान उन्‍होंने महाराष्‍ट्र के विकास, निकाय चुनाव, देवेंद्र फडणवीस से मालमेल और केंद्र सरकार से बातचीत पर खुलकर अपनी राय रखी. शिंदे ने स्‍पष्‍ट किया कि उनके और फडणवीस के बीच किसी प्रकार का शीतयुद्ध नहीं चल रहा है. उन्‍होंने कहा कि वो बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) चुनाव के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. ‘हम अपने विकास कार्य के दम पर चुनाव लड़ेंगे. लोगों ने इन सड़कों पर अपनी जान गंवा दी है. अब सड़कों में काफी सुधार हुआ है. सफाई व्‍यवस्‍था भी सुधर रही है. राज्‍य में हेल्‍थ सेंटर भी हैं.’

महाराष्‍ट्र के सीएम ने कहा, ‘पहले ठेकेदार आपस में मिले हुए थे… वे एफडी मुद्दे पर गुमराह कर रहे हैं… हम अपने लिए विज्ञापनों पर खर्च नहीं कर रहे हैं. मुंबईवासियों को हमारे द्वारा दी जा रही योजनाओं के बारे में जानने की जरूरत है. वे इसका ऑडिट कर सकते हैं. मुंबई एक अंतरराष्ट्रीय शहर है, हम इसके लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास कर रहे हैं. इसके लिए शहर के पैसे का उपयोग किया जाना चाहिए. हम वर्षों से लंबित पुनर्विकास परियोजनाओं पर गौर करेंगे. अगर जरूरत पड़ी तो हम नियम बदल देंगे. हम शहर छोड़ने वाले मुंबईवासियों को वापस लाएंगे. एमएमआरडीए, एमएसआरडीसी, सिडको जैसी सभी एजेंसियों से परियोजनाओं को अपने हाथ में लेने और लोगों को घर दिलाने में मदद करने के लिए कहा जाएगा. हम क्लस्टर पुनर्विकास में मदद कर रहे हैं. हम प्रीमियम और एफएसआई पर विचार कर रहे हैं. हम उन्हें जर्जर इमारतों में रहने नहीं दे सकते.’

देवेंद्र फडणवीस से शीतयुद्ध
एकनाथ शिंदे ने कहा, ‘देवेन्द्र जी और मेरे बीच कोई कोल्‍ड वॉर नहीं है. कोई मतभेद नहीं हैं. वह बड़े दिल वाले व्यक्ति हैं. मैं कोई कट्टर राजनीतिज्ञ नहीं हूं. मैं कुर्सी के लिए अपने सिद्धांतों और आदर्शों से समझौता करने वाला व्यक्ति नहीं हूं. मुझे मुख्यमंत्री बनाने में देवेन्द्र जी का बड़ा योगदान था. उन्‍होंने अजीत दादा के रूप में डिप्‍टी सीएम को मंजरी दी. यह करने के लिए हिम्‍मत दिखाने की जरूरत होती है. यह हजम करने के लिए एक बड़ा दिल चाहिए, जो उनके पास है. हमारे बीच दोस्‍ती है. उन्‍होंने मुझपर विश्‍वास जताया. उनके प्रोजेक्‍ट को महाविकास अगाड़ी सरकार ने रोक दिया था. बेरोजगार विरोधी हमारे बारे में अफवाह फैला रहे हैं.’

कौन होगा अगला सीएम पद का चेहरे?
हम एक टीम के रूप में काम करते हैं. हमारे कार्य, विकास और जनहित के फैसले हमारी मदद करेंगे. पीएम मोदी के नेतृत्व में हम रिकॉर्ड संख्या में जीत हासिल करेंगे. हम एक टीम के रूप में विधानसभा चुनाव लड़ेंगे और बहुमत हासिल करेंगे. हमने काम किया है. लोग उन लोगों को पसंद नहीं करते जो सिर्फ दूसरों का अपमान करते हैं. हम सड़कों पर काम करने वाले हैं. हम अपनी आखिरी सांस तक राज्य के लिए यथासंभव काम करते रहेंगे.

यह  भी पढ़ें:- भारत समेत कई देशों में बाढ़ से तबाही, वैज्ञानिकों की चेतावनी, कहा- अभी तो शुरुआत है…

क्‍यों हो रही है निगम चुनाव में देरी?
ऐसे आरोप लगाए गए कि नगर निगम चुनावों में देरी की जा रही है. इसपर एकनाथ शिंदे ने कहा, , निगम चुनाव का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट में है. वे चुनाव आयोग पर भी आरोप लगा रहे हैं, यहां तक कि सुप्रीम कोर्ट को भी सलाह दे रहे हैं. लोग समझदार हैं. हमें अपने काम पर भरोसा है, इसलिए हम चुनाव का सामना करने के लिए तैयार हैं.‘

देवेन्द्र जी और मैंने 400 परियोजनाओं को मंजूरी दी
महाराष्‍ट्र के सीएम ने कहा, “हमारी सरकार एक साल पूरा कर रही है. उपमुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस जी और मैंने 350 से 400 बड़े फैसले लिए हैं. हमने हर कैबिनेट में महाराष्ट्र की जनता के हित पर विचार किया है. हमने कोई व्यक्तिगत लाभ नहीं देखा है. हम लोगों के जीवन में बदलाव लाने के उद्देश्य से पूरे साल काम करते रहे हैं.’

मोदी जी और गृह मंत्री ने हमारे सभी प्रोजेक्‍ट पास किए
एकनाथ शिंदे ने कहा, ‘जब कुछ परियोजनाओं में देरी होती है, तो लोगों को इसका परिणाम भुगतना पड़ता है. आर्थिक बोझ भी बढ़ता है. हमने ये सारे स्पीडब्रेकर हटा दिए और एक के बाद एक कई फैसले लिए. हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन प्राप्त है. सहकारी क्षेत्र के अमित शाह के करीब आने के बाद उन्होंने 10,000 करोड़ रुपये का आयकर माफ करने का फैसला किया. हमारा हर प्रस्ताव केंद्र सरकार से स्वीकृत है. प्रधानमंत्री मोदी का फोकस हमारे महाराष्ट्र का विकास है. यही कारण है कि अजित पवार और उनके सहयोगी हमारे साथ आये. इसीलिए उन्होंने हमारा समर्थन किया है.”

” isDesktop=’true’ id=’6842869′ >

गुजरात-कर्नाटक से भी पिछड़ गया था महाराष्‍ट्र
महाराष्‍ट्र के सीएम ने कहा, ‘हमारा राज्‍य पीछे चला गया था. गुजरात और कर्नाटक आगे निकल गये लेकिन जैसे ही हमारी सरकार आई, मैंने और देवेन्द्र जी ने काम करना शुरू कर दिया. अब मुझे यह कहते हुए गर्व हो रहा है कि महाराष्ट्र विदेशी निवेश में नंबर 1 है. हमें 1.18 लाख करोड़ रुपये का निवेश मिला. बड़े पैमाने पर इंफ्रास्ट्रक्चर का काम चल रहा है. बंद पड़े मेट्रो के काम शुरू कर दिए गए हैं. मेट्रो 2ए, मेट्रो 7 का उद्घाटन माननीय प्रधान मंत्री द्वारा किया गया. नागपुर समृद्धि एक्सप्रेसवे का उद्घाटन किया गया है.’

टैग: देवेन्द्र फड़नवीस, एकनाथ शिंदे, Maharashtra News, महाराष्ट्र राजनीति

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*