हाइलाइट्स

वंचित इलाकों में 40 साल से कम आयु वर्ग के लोगों में भी डायबिटीज बहुत बड़ी समस्या बनकर उभरेगा.
डायबिटीज से बचने के लिए हेल्दी फूड लें और नियमित रूप से एक्सरसाइज या फिजिकली एक्टिव रहें.

मधुमेह का जोखिम और रोकथाम: दुनिया भर में डायबिटीज की बीमारी ने हेल्थकेयर सिस्टम पर गंभीर चुनौती ला खड़ा कर दिया है. शोधकर्ताओं ने दावा किया है कि 2050 तक विश्व में डायबिटीज मरीजों की संख्या 1 अरब को पार कर जाएगी. अब तक के आंकड़ों के मुताबिक भारत में 8 करोड़ लोग पहले से ही डायबिटीज से पीड़ित हैं और 2045 तक यहां के 13 करोड़ लोग डायबिटीज के शिकार होंगे. यही कारण है कि अभी से भारत को डायबेटिक कैपिटल ऑफ वर्ल्ड कहा जाने लगा है. डायबिटीज के मामलों में तेजी से हो रही वृद्धि को देखते हुए आशंका जताई जा रही है कि 2050 तक विश्व में हर सात या 8 में एक व्यक्ति डायबिटीज से पीड़ित होगा.

गंभीर चुनौती सामने
अल्बर्ट आइंस्टीन कॉलेज ऑफ मेडिसीन न्यूयॉर्क की डॉ. शिवानी अग्रवाल कहती हैं कि डायबिटीज हमारे समय का सबसे बड़ा पब्लिक हेल्थ खतरा है और यह अगले तीन दशक में प्रत्येक देश के लिए सिर दर्द बनकर उभरने वाला है. इसमें हर तरह के लोग प्रभावित होने वाले हैं, चाहे वह बच्चा हो, युवा हो या बुजुर्ग हो या स्त्री हो या पुरुष हो. ऐसे में इन सब तक आवश्यक दवाइयों की पहुंच, खासकर हाशिए पर खड़े लोगों तक इसकी पहुंच पूरी दुनिया के लिए गंभीर चुनौती साबित होने वाली है. शोधकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि आने वाले समय में वंचित इलाकों में 40 साल से कम आयु वर्ग के लोगों में भी डायबिटीज बहुत बड़ी समस्या बनकर उभरेगा. ऐसे में अभी से डायबिटीज के प्रति लोगों को सतर्क हो जाना चाहिए.

किन लोगों को डायबिटीज का खतरा ज्यादा
मैक्स अस्पताल गुड़गांव में डायबिटीज रोग विशेषज्ञ डॉ. पारस अग्रवाल ने बताया कि अगर किसी के निकट ब्लड रिलेशन में पहले से किसी को डायबिटीज है तो उसे डायबिटीज होने का खतरा ज्यादा रहता है. इसके साथ ही अगर मोटापा है और वह फिजिकल एक्टिविटी नहीं करता तो उन्हें डायबिटीज का खतरा सबसे ज्यादा रहता है. इसके साथ ही गलत खान पान यानी ज्यादा फास्ट फूड, जंक फूड, प्रोसेस्ड फूड का सेवन भी डायबिटीज के जोखिम को बढ़ाता है. वहीं ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल, अल्कोहल, पर्याप्त नींद न लेना, तनाव और स्मोकिंग भी डायबिटीज के लिए जिम्मेदार हो सकते हैं.

डायबिटीज से बचने के लिए क्या करें
डॉ. पारस अग्रवाल कहते हैं कि डायबिटीज से बचने के लिए सबसे जरूरी चीज है कि आप हेल्दी फूड लें और नियमित रूप से एक्सरसाइज या फिजिकली एक्टिव रहें. इसके साथ ही तनाव और डिप्रेशन से दूर रहें. हर रोज 7 से 8 घंटे की नींद लें. तली-भुनी चीजें, फास्ट फूड, जंक फूड, सैचुरेटेड फूड, प्रोसेस्ड फूड का सेवन नहीं करें. सीजनल फ्रूट और सब्जियों का सेवन ज्यादा करें. हर रोज वॉक करें. तनाव भगाने के लिए योगा, मेडिटेशन करें. हमेशा खुश रहें.

इसे भी पढ़ें-Sacrcopenia: धीरे-धीरे मांसपेशियों से ताकत हो रही है गायब, स्टेमिना भी दे रहा है जवाब, जर्जर हो रहे मसल्स में ऐसे लाएं नई जान

इसे भी पढ़ें-रोटी में घी लगाने से क्या घट जाता है मोटापा? किस तरह करता है शरीर पर असर, डॉक्टर ने बताई असली बात

टैग: खून में शक्कर, मधुमेह, स्वास्थ्य, स्वास्थ्य सुझाव, जीवन शैली

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *