रोज करते हैं कच्‍चे स्प्राउट का सेवन, जान लें इसके गंभीर नुकसान को भी, पड़ सकते हैं बीमार

हाइलाइट्स

यह कई बार फूड प्‍वॉइ‍जनिंग की वजह बन सकता है.
सेवन के करीब 12 से 72 घंटे के बीच लक्षण नजर आते हैं.

कच्चे अंकुरित अनाज खाने के दुष्प्रभाव: जब किसी भी तरह के बीज या अनाज को हम कुछ घंटों के लिए पानी में भिगोकर रखते हैं तो सही तापमान पाकर ये अंकुरित हो जाते हैं और इनका पोषक तत्‍व कई गुना बढ़ जाता है. इस वजह से इन अंकुरित स्‍प्राउट को लोग सुबह सुबह अपने डाइट में शामिल करना पसंद करते हैं. आमतौर पर इसे लोग कच्‍चा खाना पसंद करते हैं. इनमें भरपूर मात्रा में विटामिन सी, एंटीऑक्‍सीडेंट, प्रोटीन, फॉलेट, मैग्‍नेशियम, फास्‍फोरस, विटामिन के आदि पाया जाता है जो सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद है. लेकिन अगर आप इसे रेगुलर और खाली पेट डाइट में शामिल कर रहे हैं तो इसका सेहत पर नुकसान भी हो सकता है.

स्‍प्राउट खाने के हो सकते हैं नुकसान
हेल्‍थलाइन के मुताबिक, अगर आप कच्‍चे स्‍प्राउट का नियमित रूप से सेवन कर रहे हैं तो इससे शरीर को नुकसान भी हो सकता है. शोधों में पाया गया है कि यह शरीर में कई बार फूड प्‍वॉइ‍जनिंग की वजह बन सकता है. दरअसल, अधिकतर लोग इसे सलाद की तरह इस्‍तेमाल करते हैं और कच्‍चा खाना पसंद करते हैं. जबकि इसे नमी में उपजाया जाता है और इसमें ईकोली या सैल्‍मोनेला जैसे बैक्‍टीरिया बड़ी आसानी से पनप जाते हैं. ये बैक्‍टीरिया हमें तेजी से बीमार बना सकते हैं. यूएस फूड एंड ड्रग एडमिस्‍ट्रेशन ने पाया कि कच्‍चा या हल्‍का पका स्‍प्राउट फूडबॉर्न बीमारियों की बड़ी वजह बन रहा है और इसे खाकर लोग बीमार पड़ रहे हैं.

क्‍या होते हैं लक्षण
शोाधों में ये पाया गया है कि कच्‍चे स्‍प्राउट के सेवन के करीब 12 से 72 घंटे के बीच इसके लक्षण नजर आते हैं जिसमे डायरिया, पेट में क्रैंप होना, उल्‍टी जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं.

ये भी पढ़ें: गर्मियों में डिहाइड्रेशन से बचाएंगे ये 9 होममेड ड्रिंक्स, सुस्ती को भी करेंगे दूर, मिनटों में हो जाते हैं तैयार

क्‍या है खतरा
हालांकि रॉ स्‍पाउट के सेवन से किसी की मौत नहीं हो सकती, लेकिन बच्‍चों, प्रेगनेंट महिलाओं, बुजुर्ग लोगों की इम्‍यूनिटी कमजोर होने के कारण उन्‍हें काफी अधिक परेशानी हो सकती है.

ये भी पढ़ें: बेहद करामाती हैं ये हरे पत्ते, शरीर में पोषक तत्वों की कमी करते हैं पूरी, कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में भी असरदार

बरतें सावधानियां
आप हमेशा घर में बने या ताजा रेफ्रिजरेट किया हुआ स्‍प्राउट का ही सेवन करें.
अगर इसमें से किसी भी तरह की स्‍मेल आ रही हो तो इसे बिल्‍कुल भी ना खाएं.
अगर आप इसे घर पर स्‍टोर करने वाले हैं तो इसे 8 डिग्री के तापमान से कम में ही रखें.
जब भी कच्‍चा स्‍पाउट का सेवन करें या इसका सलाद आदि बनाने के लिए इसे हाथ में तो पहले अच्‍छी तरह हाथों को साफ कर लें.

टैग: स्वास्थ्य, जीवन शैली

Source link

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*